नारनौलः मत्स्य पालन विभाग ने बेरोजगारों के लिए चलाई बेहतरीन योजना

नारनौलः मत्स्य पालन विभाग ने बेरोजगारों के लिए चलाई बेहतरीन योजना
नारनौलः मत्स्य पालन विभाग ने बेरोजगारों के लिए चलाई बेहतरीन योजना


-40 हजार रुपए की खरीद पर मिलेगा 60 प्रतिशत अनुदान

नारनौल, 11 जून (हि.स.)। मत्स्य पालन विभाग की ओर से अनुसूचित जाति के बेरोजगार व्यक्तियों के लिए स्कीम फॉर द वेलफेयर ऑफ शेड्यूल कास्ट फैमिली इन फिसरीज योजना शुरू की गई है। इच्छुक प्रार्थी अपना आवेदन पत्र जिला मत्स्य अधिकारी कार्यालय नारनौल में जमा करवा सकता है। यह जानकारी जिला मत्स्य अधिकारी अनिल कुमार ने मंगलवार को दी।

उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत मछली पालन के लिए पट्टे पर लिए गए तालाबों पर प्रथम वर्ष पट्टा राशि 50 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर अथवा वास्तविक पट्टा राशि का 50 प्रतिशत दोनों में से जो भी कम है व इसकी अधिकतम सीमा 2 लाख रुपए है। जाल खरीद पर मत्स्य पालकों को 40 हजार रुपए की खरीद पर 60 प्रतिशत अनुदान देने की व्यवस्था है। उन्होंने बताया कि अधिसूचित नहरी पानी में मछली पकड़ने के ठेके पर स्वीकृत कुल बोली का 50 प्रतिशत अथवा 5 लाख रुपए अधिकतम अनुदान दिया जाता है। मत्स्यक पालकों को खाद्य खुराक पर 60 प्रतिशत की दर से 90 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर से अनुदान राशि प्रदान की जाती है। इसमें अधिकतम सीमा 3 लाख 60 हजार रुपए है।

उन्होंने बताया कि मत्स्यक पलकों को खाद खुराक पर 1 लाख 50 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर व 40 प्रतिशत की दर से सामान्य श्रेणी के 60 प्रतिशत की दर से अनुसूचित जाति महिला लाभार्थियों को अनुदान प्रदान किया जाएगा। तालाब सुधार पर 3 वर्ष या इससे अधिक पर नवीनीकरण किए जाने का प्रावधान किया गया है। पंचायती तालाब व निजी तालाब के तहत कुल परियोजना लागत 2 लाख रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से सामान्य श्रेणी के लिए कुल परियोजना लागत का 40 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति महिला लाभार्थियों के लिए परियोजना लागत का 60 प्रतिशत अनुदान प्रदान किया जाएगा। मछली एवं मछली उत्पादन की बिक्री के लिए उक्त मद के तहत 60 हजार रुपए की रेहड़ी खरीद पर 60 प्रतिशत या अधिकतम धन राशि पर 36 हजार रुपए प्रति लाभार्थी जो भी कम होगा अनुदान के रूप में मान्य होगा।

हिन्दुस्थान समाचार/श्याम/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story