हरियाणा के शिक्षक सीखेंगे नई शिक्षण विधियां

आठ से शुरू होगा चार दिवसीय प्रशिक्षण

बालगीत और खेल गतिविधियों से विद्यार्थियों को देंगे प्रशिक्षण

चंडीगढ़, 4 अप्रैल (हि.स.)। प्राथमिक पाठशालाओं में विद्यार्थियों को बालगीत और खेल गतिविधियों के जरिये अक्षर ज्ञान दिया जाएगा। निपुण हरियाणा मिशन के तहत प्राथमिक कक्षाओं में नई शिक्षण विधियों और शिक्षण सामग्री का प्रयोग बढ़ाने के लिए शिक्षकों को चार दिवसीय प्रशिक्षण दिया जाएगा।

गुरुवार को इसका कार्यक्रम जारी कर दिया गया। निपुण हरियाणा मिशन कार्यक्रम के तहत प्रदेश के सभी खंडों में मूलभूत सारक्षता और संख्यात्मक मिशन (फाउंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमेरेसी मिशन) को लेकर 8 अप्रैल से प्रशिक्षण शुरू होगा। हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारी, मौलिक शिक्षा अधिकारी, डाइट प्रधानाचार्य और जिला परियोजना समन्वयक को पत्र लिखकर निपुण हरियाणा मिशन के तहत कक्षा चौथी और पांचवीं तक निपुण कार्यक्रम के विस्तारीकरण के लिए चार दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित करने के निर्देश दिए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारियों को लिखे गए पत्र में स्पष्ट हिदायत दी गई है कि प्रशिक्षण कार्यक्रम खंड स्तर पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय या फिर बीआरसी में आयोजित होगा। कार्यशाला के दौरान तमाम व्यवस्थाएं की जानी अनिवार्य है। यही नहीं प्रशिक्षण में उच्चाधिकारी आनलाइन के जरिये जुड़ेंगे।

मुख्यालय की ओर से सख्त निर्देश दिए हैं कि प्रशिक्षण में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य है, आगमन और प्रस्थान के दौरान दोनों समय आनलाइन उपस्थिति होगी। मार्च 2024 में आयोजित प्रशिक्षण के दौरान जिन शिक्षकों ने हिस्सा नहीं लिया था, उनकी उपस्थिति अनिवार्य है। यही नहीं प्रशिक्षण समाप्त होने के बाद पीआरटी को अपना प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र स्कूल मुखिया के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। यदि किसी स्कूल से कोई अध्यापक प्रशिक्षण में हिस्सा नहीं लेता है तो संबंधित स्कूल मुखिया के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story