एक से ज्यादा सरकारी आवास कब्जाने वाले आईपीएस पर होगी कार्रवाई



पुलिस महानिदेशक ने सभी जिलों से मांगी रिपोर्ट

आईजी वाई पूरण कुमार की शिकायत पर कार्रवाई शुरू

चंडीगढ़, 9 जून (हि.स.)। हरियाणा में पुलिस अधिकारियाें के सरकारी आवासों पर कब्जा करने तथा ट्रांसफर के बाद भी आवास खाली न करने को लेकर छिड़ा विवाद अब निर्णायक मोड़ में आ गया है। आईपीएस अधिकारी वाई पूरण कुमार की शिकायत पर पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) शत्रुजीत कपूर ने सभी जिला पुलिस अधीक्षकों से सरकारी मकान खाली न करने वाले अधिकारियों की सूची मांग ली है।

हाल ही में आईजी वाई पूरण कुमार ने वन ऑफिसर वन हाउस पॉलिसी का हवाला देते हुए उन आईपीएस अफसरों की शिकायत की थी, जिनके पास एक से ज्यादा सरकारी आवास हैं। इनमें कुछ फील्ड में तैनात हैं तो कुछ ने गलत जानकारियां देकर एक से अधिक मकान रखे हुए हैं। वहीं बहुत से अधिकारी ऐसे हैं, जिन्हें पात्र होने के बावजूद मकान नहीं मिल रहा है।

आईपीएस पूरण कुमार ने अपनी शिकायत में बकायदा नौ वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों के नाम दिए थे, जिन्होंने एक से अधिक सरकारी मकान अपने पास रखे हैं। आईजी कुमार ने पिछले सप्ताह इस बारे में मुख्यमंत्री नायब सैनी को भी शिकायत भेजी थी। जिसके बाद मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) की तरफ से पुलिस महानिदेशक को इस मामले में कार्रवाई के निर्देश जारी किए गए हैं। पूरण कुमार इससे पहले डीजीपी शत्रुजीत कपूर तथा गृह सचिव प्रसाद को भी शिकायत कर चुके हैं।

हरियाणा के पंचकूला, फरीदाबाद, गुरुग्राम में ऐसे कई मामले हैं जहां अधिकारियों ने एक से अधिक सरकारी मकान अपने पास रखा हुआ है। सीएमओ के निर्देश के बाद पुलिस महानिदेशक ने जिला पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए हैं कि जिन अधिकारियों के पास एक से अधिक मकान हैं उन्हें तुरंत नोटिस जारी करके मकान खाली करवाया जाए। इसके साथ ही उनसे पैनल रेंट वेतन से काटा जाए। पुलिस महानिदेशक ने इस बारे में सभी जिलों के एसपी से एक सप्ताह के भीतर विस्तृत कार्रवाई रिपोर्ट मुख्यालय को भेजने के निर्देश दिए हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story