सभी संगठनों विश्वास में लेकर होना चाहिए था आंदोलन: चढ़ूनी



बीकेयू हरियाणा के अध्यक्ष ने आंदोलन पर उठाए सवाल

किसानों की प्रमुख मांग एमएसपी का किया समर्थन

चंडीगढ़, 13 फरवरी (हि.स.)। पंजाब के दो किसान संगठनों के दिल्ली कूच करने पर भारतीय किसान यूनियन हरियाणा के प्रधान गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने सवाल उठाये हैं।

हरियाणा में लंबे समय से किसानों की लड़ाई रहे बीकेयू अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने मंगलवार को ट्वीट करके कहा कि पिछली बार किसान आंदोलन में पंजाब के 32 किसान संगठन शामिल थे, वहीं इस बार केवल दो किसान संगठन इस आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं। हरियाणा की तरफ से भी ज्यादातर किसान संगठन अभी तक चुप है। उन्होंने कहा कि वह तथा उनका संगठन किसानों की एमएसपी की मांग का समर्थन करते हैं। एमएसपी मिलना चाहिए। साथ ही चढ़ूनी ने कहा कि देश के सभी संगठनों से बैठक करके रणनीति बनाकर फिर कोई कॉल देनी चाहिए थी। सरकार व प्रशासन किसानों पर बल का प्रयोग न करे।

चढ़ूनी के इस टवीट के कई मायने निकाले जा रहे हैं। इससे साफ हो गया है कि किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे जगजीत सिंह डल्लेवाल तथा सरवन सिंह पंधेर ने अन्य संगठनों को विश्वास में लिए बगैर ही आंदोलन शुरू कर दिया है। दूसरी तरफ मंगलवार को हरियाणा में कई जगह किसान व पुलिस आमने-सामने हुई लेकिन हरियाणा के किसान संगठन अभी तक इस मामले में चुप हैं। खुलकर कोई भी संगठन न तो इस आंदोलन का समर्थन कर रहा है और न ही विरोध कर रहा है। चढ़ूनी के बयान से साफ हो गया है कि पंजाब से हरियाणा में आने वाले किसान संगठनों ने हरियाणा के किसानों को विश्वास में नहीं लिया है।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story