गुरुग्राम: वोटर टर्न आउट बढ़ाने के लिए उचित मतदाता सूची का होना अत्यंत आवश्यक: निशांत यादव

गुरुग्राम: वोटर टर्न आउट बढ़ाने के लिए उचित मतदाता सूची का होना अत्यंत आवश्यक: निशांत यादव
WhatsApp Channel Join Now
गुरुग्राम: वोटर टर्न आउट बढ़ाने के लिए उचित मतदाता सूची का होना अत्यंत आवश्यक: निशांत यादव


-मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के सफल संचालन को लेकर बैठक

गुरुग्राम, 3 जुलाई (हि.स.)। जिला में 25 जून से जारी मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के सफल संचालन को लेकर लघु सचिवालय स्थित कॉन्फ्रेंस हॉल में डीसी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी निशांत कुमार यादव की अध्यक्षता में बैठक हुई। बुधवार को बैठक में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल के जिला अध्यक्ष और सहायक निर्वाचन अधिकारी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी शामिल हुए।

बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी निशांत कुमार यादव ने निर्वाचन आयोग द्वारा 1 जुलाई 2024 को एलिजिबिलिटी तिथि मानते हुए फोटो मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्यक्रम 2024 के संचालन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 18 जुलाई तक जारी मतदाता सूची के इस विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम में मतदाता सूची प्रारूप प्रकाशन करने, दावा एवं आपत्ति दाखिल करने, दावा एवं आपत्ति निस्तार करने, मतदाता सूची में नाम जोडऩे का कार्य, शुद्धिकरण व मृत मतदाता का नाम हटाने का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के अनुसार बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर इलेक्टोरल वेरिफिकेशन कार्य किया जाएगा। इस दौरान वैसे वोटर जिनकी मृत्यु हो गई है, उनका नाम हटाया जाएगा। साथ हीं 18 वर्ष के नए वोटर्स का नाम जोड़ा जाएगा एवं अन्य मतदाता सूची से संबंधित कार्य किए जाएंगे। उन्होंने सभी एआरओ को निर्देश दिए कि वे अपने से संबंधित क्षेत्र में यह सुनिश्चित करें कि बीएलओ द्वारा घर घर जाकर यह कार्य पूरी गंभीरता के साथ किया जा रहा है।

राजनीतिक दलों से भी योगदान की अपील

जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से अपील किया कि वह लोगों को जागरूक करने में अपना बहुमूल्य योगदान दें। लोगों को वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने या सुधार के लिए सहयोग एवं जागरुक करें। साथ हीं सभी राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों को बूथ लेवल एजेंट (बीएलए) की सूची उपलब्ध कराने को कहा, जो बूथ पर बीएलओ को कार्य में सहयोग करेंगे। उन्होंने साथ ही शत-प्रतिशत सुनिश्चित करने में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से सहयोग की बात कहीं, ताकि एक भी योग्य मतदाता का नाम मतदाता सूची में न छूटे।

डीसी ने कहा कि 1400 से अधिक मतदाताओं वाले मतदान केंद्र को चिन्हित करने के अलावा जो मतदान केंद्र जर्जर हो गया है। जहां मूलभूत सुविधाओं का अभाव है, उसके लिए सुविधायुक्त स्थल का चयन करने से जुड़ी जानकारी भी जुटाई जाए। उन्होंने कहा कि विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत सभी दावे व आपत्तियों पर विचार करने उपरांत 20 अगस्त को फाइनल ड्राफ्ट पब्लिश किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ईश्वर/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story