गुरुग्राम: वाटिका बिल्डर पर रेरा ने ठोंका 5 करोड़ रुपये जुर्माना

WhatsApp Channel Join Now

-नियमों का उल्लंघन करने पर, नियमों को नहीं मानने पर रेरा ने दिखाई सख्ती

गुरुग्राम, 9 जुलाई (हि.स.)। हरियाणा रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी (हरेरा) गुरुग्राम ने एक बिल्डर पर इसलिए 5 करोड़ रुपये जुर्माना ठोंका है कि उसने रेरा में अपने प्रोजेक्ट का पंजीकरण देरी से कराया। रेरा का यह कदम दूसरे बिल्डर को भी सीख देगा, जो किसी न किसी रूप में लापरवाही करते हैं।

मंगलवार को रेरा की ओर से मिली जानकारी के अनुसार वाटिका लिमिटेड ने अपने आवासीय रियल एस्टेट प्रोजेक्ट वाटिका इंडिया नेक्स्ट-2 के लिए 2013 में हरियाणा के टाउन एंड कंट्री प्लानिंग (टीसीपी) विभाग से लाइसेंस लिया था। प्रमोटर को तीन महीने के भीतर पंजीकरण के लिए आवेदन करना चाहिए था। मई 2017 में हरियाणा में इस अधिनियम को लागू किया गया था। रेरा अथॉरिटी ने कहा कि वाटिका लिमिटेड ने रेरा पंजीकरण के लिए इस अधिसूचना के पांच साल बाद 2022 बाद आवेदन किया। तब तक तो हरेरा गुरुग्राम ने मामले में खुद ही संज्ञान ले लिया। अथॉरिटी के चेयरमैन अरुण कुमार ने कहा कि यह एक चालू परियोजना थी। प्रमोटर को जुर्माने से बचने के लिए समय पर रेरा पंजीकरण के लिए आवेदन करना चाहिए था। उन सभी चालू रियल एस्टेट परियोजनाओं के लिए हरेरा पंजीकरण अनिवार्य है, जहां 2016 में अधिनियम लागू होने से पहले कंप्लीशन प्रमाण पत्र जारी नहीं किए गए थे। उन्होंने कहा कि कोई भी प्रमोटर किसी भी प्लॉट, अपार्टमेंट या इमारत, जैसा भी मामला हो, का विज्ञापन, विपणन, पुस्तक, बिक्री या बिक्री की पेशकश नहीं करेगा या किसी भी तरीके से व्यक्तियों को खरीदने के लिए आमंत्रित नहीं करेगा। एक बार जब प्रमोटर वाटिका लिमिटिड ने 2022 में परियोजना के पंजीकरण के लिए सभी अनिवार्य मंजूरी जमा कर दी, तो अथॉरिटी ने परियोजना के पंजीकरण को मंजूरी दे दी। साथ ही धारा 3 के उल्लंघन के लिए दंडात्मक कार्यवाही भी पूरी की है। रेरा ने बिल्डर पर 5 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है।

हिन्दुस्थान समाचार / ईश्वर हरियाणा / Sanjeev Sharma

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story