गुरुग्राम: ऑनलाइन गेमिंग व इन्वेस्टमेंट कराने के नाम पर ठगी के रैकेट का भंडाफोड़

गुरुग्राम: ऑनलाइन गेमिंग व इन्वेस्टमेंट कराने के नाम पर ठगी के रैकेट का भंडाफोड़
गुरुग्राम: ऑनलाइन गेमिंग व इन्वेस्टमेंट कराने के नाम पर ठगी के रैकेट का भंडाफोड़


-पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत 8 आरोपियों को किया कब्जा

-आरोपियों के कब्जे से 28 मोबाइल व 3 लैपटॉप बरामद किए

-फतेहाबाद का सुनील उर्फ सोनू है इस रैकेट का संचालक

गुरुग्राम, 2 अप्रैल (हि.स.)। आनलाइन गेमिंग में ज्यादा प्रॉफिट का प्रलोभन देकर अलग-अलग कंपनियों में गेम खिलाने तथा इन्वेस्टमेंट कराने के नाम पर लोगों से ठगी करने वाले रैकेट का गुरुग्राम की साईबर थाना पूर्व पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। इस मामले में मुख्य आरोपी समेत 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उनके कब्जे से 28 मोबाइल व 3 लैपटॉप बरामद किए गए हैं।

थाना साईबर पूर्व गुुरुग्राम के निरीक्षण सवित कुमार की टीम को गुप्त सूचना मिली कि प्लॉट नम्बर 495, कोयल विहार, सेक्टर-52 गुरुग्राम में गेमिंग में इन्वेस्टमेंट के बदले मोटा प्रॉफिट का झांसा देकर रुपए इन्वेस्टमेंट कराने के नाम पर ठगी का रैकेट चल रहा है। इस सूचना पर पुलिस ने छापेमारी की गई। इस दौरान पता चला कि वह ऑफिस फर्जी/अवैध तरीके से संचालित किया जा रहा है। जांच के दौरान आरोपियों द्वारा अलग-अलग गेम खेला कर इन्वेस्टमेंट करने के नाम पर धोखाधड़ी करके ठगी करने का भी खुलासा हुआ। पुलिस टीम द्वारा उस आफिस के मालिक एवं रैकेट के संचालक सहित कुल 8 आरोपियों को काबू किया।

आरोपियों की पहचान संचालक सुनील कुमार उर्फ सोनू (42) निवासी डीएसपी रोड फतेहाबाद, 12वीं पास पवन (24) निवासी गांव हिजरावा कलां जिला फतेहाबाद, 12वीं पास अर्शदीप (27) निवासी गांव हिजरावा कलां जिला फतेहाबाद, 12वीं पास तरुण (20) निवासी डीएसपी रोड फतेहाबाद, पारसदीप (19) निवासी कंगनपुर रोड भारत नगर सिरसा, बीए पास दीपक (21) निवासी गांव मतलोडा जिला हिसार, 10वीं पास हिमांशु (20) निवासी पटियाला चौक जींद व 12वीं राजेंद्र (37) निवासी गांव जीतो आगार जिला रियासी जम्मू-कश्मीर के रूप में हुई है। आरोपियों के खिलाफ थाना साईबर अपराध पूर्व गुरुग्राम में केस दर्ज किया गया है।

एक साथी श्रीलंका से ऐसी गतिविधियां चलाता है

आरोपियों से पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी सुनील उर्फ सोनू इस धोखाधड़ी के रैकेट का संचालक है। वह अपने साथियों/कर्मचारियों के साथ मिलकर इस रैकेट को चलाता है। अभी तक की जांच में सामने आया है कि इस रैकेट का एक सदस्य श्रीलंका से भी इस तरह की अवैध गतिविधियां चलाता है। गिरफ्तार आरोपी सुनील ने पकड़े गए सभी आरोपियों को सेलरी/कमीशन पर रखा हुआ है। ठगी गई राशि में से कमीशन/बोनस के तौर पर 2 प्रतिशत रुपये भी देता था। सुनील ने यह भी बताया है कि वह पिछले एक वर्ष से अपने एक अन्य साथी तथा पकड़े गए इन साथियों के साथ मिलकर यह काम कर रहा है।

हिन्दुस्थान समाचार/ईश्वर/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story