फरीदाबाद : ‘आप्रेशन स्माइल’ के तहत पांच बच्चों को किया रेस्क्यू

फरीदाबाद : ‘आप्रेशन स्माइल’ के तहत पांच बच्चों को किया रेस्क्यू


फरीदाबाद, 10 जुलाई (हि.स.)। ‘आप्रेशन स्माइल’ के तहत अपराध शाखा कैट की टीम ने भीख मांगने वाले पांच बच्चों का रेस्क्यू कर उनके जीवन को सही दिशा दिखाने का कार्य किया है। पुलिस प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि ‘आप्रेशन स्माइल’ के तहत कार्य करते हुए अपराध शाखा कैट ने एत्मादपुर गांव के पास से पांच नाबालिक बच्चों को भीख मांगते हुए रेस्क्यू किया है। सभी बच्चों की उम्र 7 से 13 वर्ष के बीच है। भीख मांगने वाले नाबालिग बच्चों व उनके अभिभावकों की काउंसलिंग कराई गई।

चेयरपर्सन बाल कल्याण समिति फरीदाबाद ने उपरोक्त बच्चों के परिजनों को हिदायत देकर बच्चों की पढ़ाई के लिए प्रेरित करते हुए बताया कि स्कूली शिक्षा मानवीय समाज के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह एक ऐसा माध्यम है जो हमें ज्ञान, विचारशीलता और व्यक्तित्व के विकास में सहायता प्रदान करता है। स्कूली शिक्षा सामाजिक मान्यताओं, नैतिक मूल्यों, और सही आचार-व्यवहार के बारे में सिखाती है। शिक्षा के माध्यम से हम न केवल अधिकार, योग्यता, और आत्मविश्वास प्राप्त करते हैं, बल्कि हमारे समाज में सकारात्मक परिवर्तन की भी गारंटी होती है। स्कूली शिक्षा हमें समाज से जुड़ाव और सहयोग का आदर्श भी सिखाती है। स्कूली शिक्षा न केवल हमारी व्यक्तिगत विकास की देखभाल करती है, बल्कि हमें सामाजिक, आर्थिक, और राष्ट्रीय विकास के लिए भी तैयार करती है। इसलिए, स्कूली शिक्षा का महत्व बहुत अधिक है। यह हमें सभ्य, समझदार, और उच्च स्तरीय नागरिकों के रूप में बनाती है और हमें एक समृद्ध, समरस, और विकसित समाज की ओर ले जाती है। इस प्रकार बच्चों के माता-पिता को बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रोत्साहित करते हुए बच्चों को सकुशल उनके परिजनों हवाले किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार / -मनोज तोमर / Sanjeev Sharma

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story