कैथल: जिंदल साहब...या तो यहां बेटियों का कॉलेज बनेगा, नहीं तो हम कुछ नहीं बनने देंगे

कैथल: जिंदल साहब...या तो यहां बेटियों का कॉलेज बनेगा, नहीं तो हम कुछ नहीं बनने देंगे
WhatsApp Channel Join Now
कैथल: जिंदल साहब...या तो यहां बेटियों का कॉलेज बनेगा, नहीं तो हम कुछ नहीं बनने देंगे


बोले: एमपी साहब शीघ्र करो कार्रवाई, लग रहे हैं पैसे लेकर धरना उठाने के आरोप

कैथल, 4 जुलाई (हि.स.)। जिंदल साहब राजौंद बस अड्डे के पास अब या तो बेटियों के लिए कॉलेज ही बनेगा, अन्यथा अब यहां अब हम कुछ नहीं बनने देंगे। सांसद महोदय चुनाव के दौरान आपने हमसे हमारी मांगें मानने का आश्वासन देकर धरना समाप्त करवाया था, अब आप हमारी मांग पूरी करो। अब ग्रामीण हम पर पैसे लेकर धरना समाप्त करने के आरोप लगा रहे है। ऐसे में अगर हमारी मांग पूरी नहीं होती है तो हमें कठोर कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। यह बात गुरुवार को राजौंद की सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट हटाओ, बेटियो के लिए कॉलेज बनाओ संघर्ष समिति के सदस्याें ने कही।

संघर्ष समिति के पदाधिकारी व गांव के मौजिज लोग सांसद नवीन जिंदल से मिले। उन्होंने राजौंद में बस अड्डे के पास सीवरेज प्लांट हटाने व बेटियों के लिए कॉलेज बनाने की मांग की। उन्होंने कहा कि हमारे गांव की बेटियां बीर बांगड़ा पढऩे के लिए नहीं जा सकती हैं। वहां का माहौल ठीक नहीं है। संघर्ष समिति के प्रधान राकेश राणा, प्रवक्ता काका राणा, कोषाध्यक्ष अरविंद शर्मा, मीडिया प्रभारी नरेन्द्र प्रजापति, नरेश ढांडा, ईश्वर ढांगी ने कहा कि संर्घष समिति ने चुनाव के दौरान 114 दिन से चल रहा धरना सांसद नवीन जिंदल के कहने पर समाप्त किया था। जिंदल ने उन्हें आश्वासन दिया था कि चुनाव के बाद उसकी समस्या का समाधान हो जाएगा। संघर्ष समिति ने जिंदल को कहा कि अगर उन्हें जमीन की जरूरत है तो उन्हें और जमीन भी दे दी जाएगी, लेकिन बेटियों के लिए कॉलेज यहीं बनाओ।

संघर्ष समिति के लोगों का कहना था कि उन्होंने जिंदल की जुबान पर धरना उठाया था और अब हमारे ऊपर पैसे लेकर धरना उठाने के आरोप लग रहे हैं। ऐसे में वे 15 दिन का और समय देते हैं अगर उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे फिर से कठोर कदम उठाने को मजबूर होंगे। सांसद नवीन जिंदल ने संघर्ष समिति के सदस्यों को मिलकर बातचीत की। उन्होंने संघर्ष समिति के सदस्यों को आश्वासन दिया कि वे उनकी मांगों को लेकर प्रयासरत हैं। जरूर कोई ना कोई हल निकाला जाएगा। उन्हें थोड़ा समय और दो। सांसद ने कहा कि वे चाहते हैं कि ऐसा काम हो सांप भी मर आए और लाठी भी ना टूटे।

राजौंद में नहीं है कमलेश ढांडा का कोई वजूद

संघर्ष समिति के सभी पदाधिकारियों व सदस्यों ने सांसद नवीन जिंदल को कहा कि पूर्व राज्यमंत्री कमलेश ढांडा प्रशासन व सरकार को गुमराह कर रही है। अगर आप कमलेश ढांडा को चुनाव में टिकट भी दोंगे तो आप स्वयं रिजल्ट देख लेना। आपको पता चल जाएगा। राजौंद में कमलेश ढांडा का कोई वजूद नहीं है।

हिन्दुस्थान समाचार/नरेश /संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story