चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों को ठीक करे पंजाब

चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों को ठीक करे पंजाब


हरियाणा के गृहमंत्री ने पंजाब के सीएम को लिखा पत्र

चंडीगढ़, 22 नवंबर (हि.स.)। अलग विधानसभा भवन की मांग को लेकर जहां पंजाब-हरियाणा में विवाद छिड़ा हुआ है, वहीं मंगलवार को एक नया मुद्दा शुरू हो गया। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को पत्र लिखकर दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों के मुद्दे पर पंजाब को घेर लिया है। इन वैकल्पिक मार्गों पर हरियाणा व पंजाब दोनों का अधिकार है। कुछ क्षेत्र कॉमन लैंड के रूप में भी चिन्हित है।

दरअसल चंडीगढ़ के एंट्री प्वाइंट पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा एक साथ दो ओवरब्रिज का निर्माण शुरू कर दिया गया है। इससे चंडीगढ़ से दिल्ली की तरफ जाने वालों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई-कई घंटे जाम की स्थिति बनी रहती है।

चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले हरियाणा, पंजाब व हिमाचल के वीआईपी, वीवीआईपी तथा सामान्य लोगों को वैकल्पिक रास्ते अपनाने पड़ते हैं। इनमें से ज्यादातर रास्ते हरियाणा से जुड़े हुए हैं। इसी को आधार बनाते हुए हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को लिखे पत्र में कहा है कि दिल्ली से चंडीगढ़ आने वाले ज्यादातर वाहन चालकों को डेराबस्सी से रामगढ़ अथवा ओल्ड अंबाला रोड का सहारा लेना पड़ता है। इस समय यह दोनों मार्ग दयनीय स्थिति में हैं।

वर्तमान में पुल निर्माण के चलते ज्यादातर लोग इसी रास्ते को वैकल्पिक रास्ते के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। जीरकपुर तथा चंडीगढ़ के एंट्री प्वाइंट पर जाम के कारण लोगों को भारी दिक्कतें आ रही है। दूसरा वैकल्पिक राह भी सही नहीं है। विज ने पंजाब के सीएम को सलाह दी है कि इस मार्ग की मरम्मत के साथ-साथ डेराबस्सी से वाया रामगढ़ जाने वाली सड़क को चार मार्गीय बनाने पर भी विचार किया जाए।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story