हरियाणा में कांग्रेस अकेले दम पर लड़ेगी विधानसभा चुनाव: हुड्डा

लाेकसभा चुनाव की समीक्षा बैठक के बाद भूपेन्द्र हुड्डा ने किया ऐलान

राष्ट्रीय मुद्दों पर लोकसभा चुनाव के लिए हुआ था आप से गठबंधन: हुड्डा

चंडीगढ़, 11 जून (हि.स.)। हरियाणा में लोकसभा चुनाव के दौरान अस्तित्व में आया विपक्ष का गठबंधन आईएनडीआईए अब बिखरता दिख रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने राज्य विधानसभा चुनाव अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

दरअसल, लोकसभा चुनाव के तुरंत बाद आम आदमी पार्टी के नेता अनुराग ढांडा ने कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र के चुनाव के दौरान कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला तथा अशोक अरोड़ा की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे। कुरुक्षेत्र से गठबंधन प्रत्याशी सुशील गुप्ता ने इस मामले में पार्टी का बचाव किया था। इस उठापटक के बीच चंडीगढ़ में पिछले दो दिन से चल रही कांग्रेस की बैठक के बाद मंगलवार को पत्रकारों से वार्ता के दौरान कांग्रेस नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने साफ कर दिया है कि निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनाव कांग्रेस अपने बल पर प्रदेश की सभी सीटों पर लड़ेगी। हुड्डा ने कहा कि यह गठबंधन राष्ट्रीय स्तर पर, राष्ट्रीय मुद्दों के आधार पर हुआ था। हरियाणा में किसी तरह के गठबंधन पर बात नहीं हुई है।

हुड्डा ने कहा कि गठबंधन को 47 प्रतिशत से ज्यादा वोट मिला है। पूरे देश में ये सबसे ज्यादा है। लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस को विधानसभा की 46 सीटों पर बढ़त मिली है। भाजपा का 12 प्रतिशत वोट प्रतिशत गिरा है। भाजपा का पहले 57.7 वोट प्रतिशत था। हमारा 28.1 वोट प्रतिशत था। हमारा साढ़े 29 प्रतिशत वोट बढ़ा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के सभी लोकसभा हलकों में कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा है। विधानसभा चुनाव में टिकट का वितरण भी लोकसभा चुनाव की तरह होगा। जीतने वाले कैंडिडेट को उतारा जाएगा। लोकसभा में भी यही आधार बनाया गया था। कांग्रेस के नेताओं ने टिकट वितरण पर आपत्ति जताए जाने को लेकर हुड्डा ने कहा कि टिकटों का वितरण पार्टी हाईकमान करता है और इसे सभी को स्वीकार करते हुए काम करना चाहिए।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story