जींद: अतिथि अध्यापकों ने की सरकार के खिलाफ नारेबाजी

जींद: अतिथि अध्यापकों ने की सरकार के खिलाफ नारेबाजी


जींद, 24 नवंबर (हि.स.)। तबादला नीति के तहत अतिथि अध्यापकों को मूल स्टेशन से 400 किलोमीटर दूर स्टेशन मिलने के विरोध में अध्यापक बिफर गए। नेहरू पार्क में अतिथि अध्यापकों ने रोष बैठक की और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। अतिथि अध्यापकों ने कहा कि हजारों गेस्ट टीचरों को तबादला नीति के माध्यम से पूरी तरह बर्बाद किया जा रहा है। गृह जिले में आसपास के स्टेशन देने का वादा कर 400 किलोमीटर दूर तक गेस्ट टीचरों को भेज कर सरकार अपनी शिक्षक और शिक्षा विरोधी मनसा जाहिर कर रही है जिससे गेस्ट टीचरों में भारी आक्रोश है।

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द ही तबादला नीति को रद्द करते हुए केपट पोस्ट खोल कर सभी 14 हजार गेस्ट टीचरों को गृह जिले में स्टेशन नहीं दिया ओर नियमित नही किया तो वो आर पार की लड़ाई लडऩे के लिए मजबूर होंगे। इस दौरान दूरदराज गए सभी गेस्ट टीचरों ने सभी यूनियनों व सभी पदाधिकारियों के साथ-साथ 14 हजार गेस्ट टीचरों से अपील की है कि वो 27 नवंबर को ज्यादा से ज्यादा संख्या में करनाल पहुंच कर सरकार को आईना दिखाने का काम करेंगे। वीरवार को बैठक कर फैसला लिया कि वो तबादला नीति के विरोध में व नियमित करने की मांग को लेकर प्रदेश के गेस्ट टीचर 27 नवंबर को करनाल में दहाड़ेंगे ओर अपना विरोध जताएंगे। बैठक में में एक मेवात, पलवल, यमुनानगर, फरीदाबाद, सिरसा आदि जिलों में जबरदस्ती बिना स्टेशन च्वायस के एनीवेयर में 400 किलोमीटर दूर तक भेजे गए सैकड़ों गेस्ट टीचरों ने हिस्सा लिया। गेस्ट टीचर सुभाष, महेंद्र, सुखविंद्र, रवि, दिनेश, प्रदीप सुमन, दिव्या ने बताया कि प्रदेश के 14 हजार गेस्ट टीचर पिछले 17 वर्षों से हरियाणा के सरकारी स्कूलों में अपनी अतुल्य सेवाएं दे रहे हैं। बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र व लिखित में वायदा किया था कि सरकार बनते ही पहली कलम से गेस्ट टीचरों को नियमित किया जाएगा और उनका एरियर भी दिया जाएगा लेकिन नियमित करना तो दूर की बात अभी तक समान काम समान वेतन तक नहीं दिया है।

हिन्दुस्थान समाचार/ विजेंद्र/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story