सरपंचों के अधिकार छीनकर पंचायतों को कमजोर कर रही सरकार : उमेद लोहान



इनेलो नेता उमेद लोहान ने दिया सरपंचों के धरने को समर्थन

हिसार, 25 जनवरी (हि.स.)। इनेलो के राष्ट्रीय प्रवक्ता उमेद लोहान ने कहा है कि प्रदेश की गठबंधन सरकार सरपंचों के अधिकारों को छीनकर पंचायतों को कमजोर करने में लगी है। दो वर्षों से वैसे ही गांवों में विकास कार्य ठप पड़े हैं। अब सरकार अपनी मनमानी ई-टेंडरिंग के नाम पर भ्रष्ट अफसरशाही को शह व बढ़ावा दे रही है।

लघु सचिवालय परिसर में सरपंचों के धरने को संबोधित करते हुए उमेद लोहान ने कहा कि वे खुद दो बार अपने गांव के पूर्व सरपंच रह चुके हैं और गांव के विकास में सरपंच की भूमिका को अच्छी तरह समझते हैं। जब तक ग्राम विकास के लिए सरपंच को अधिकार ही नहीं दिए जाएंगे तो गांवों के विकास की बात बेमानी है। उन्होंने कहा कि पार्टी के प्रधान महासचिव अभय चौटाला चंडीगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस करके सरपंचों के धरने को पहले ही अपना समर्थन दे चुके हैं।

उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव नहीं होने से इन दो वर्षों के दौरान अफसरों ने पंचायत के फंड को भ्रष्टाचार के माध्यम से जमकर खाया है अब सरपंचों के कार्यभार संभाल लेने से उनकी भ्रष्टाचार की कमाई बंद हो जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी सरपंच, ब्लॉक समिति मैंबर जिला पार्षद एकजुट होकर इसके खिलाफ एकजुट होकर लड़ें और सरकार के कानों तक अपनी आवाज पहुंचाए और इस अव्यवहारिक एवं गलत फैसले को वापिस लेने के लिए मजबूर करे। इस अवसर पर उनके साथ लीगल सैल के जिला अध्यक्ष प्रदीप बाजिया, भूपेन्द्र पानू, जिला प्रवक्ता रमेश चुघ, विनोद कसवां, साहिल कसवां, राहुल आदि मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश्वर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story