पलवल: धरने पर किसान भूख हड़ताल करेंगे, जरूरत पड़ेगी तो हाइवे भी जाम



पलवल, 24 जनवरी (हि.स.)। पलवल के गाँव मिंडकोला में दिल्ली -मुंबई-बड़ोदरा, डीएनडी एक्सप्रेस वे पर इंटरचेंज की मांग को लेकर किसानों का अनिश्चितकालीन धरना 24 वें दिन भी जारी रहा आस पास के 80 गांवों के किसानों में से रोजाना अलग -अलग गाँव के किसान धरने पर पहुँच रहे हैं। अब किसानों ने दिल्ली-मुंबई-बड़ोदरा एक्सप्रेस- वे के निर्माण कार्य को रोकने की चेतावनी दे दी है। किसानों का कहना है कि जब तक मांगें पूरी नहीं होती किसानों का धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। जरूरत पड़ी तो किसान केएमपी एक्सप्रेस वे पर भी जाम लगा सकते हैं।

आपको बता दें कि मिंडकौला गाँव में धरने पर बैठे किसान बिना मांगे पूरी कराये घर वापसी को जाने को राजी नहीं हैं। दिल्ली -मुंबई-वडोदरा, डीएनडी एक्सप्रेस वे पर इंटरचेंज की मांग को लेकर किसानों का अनिश्चितकालीन धरना एक जनवरी से जारी है। धरने पर ठण्ड की वजह से एक किसान की मौत भी हो चुकी है। अब किसान सरकार के खिलाफ हुंकार भर रहे हैं। अब धरने पर बैठे किसानों ने सरकार की ई- पोर्टल द्वारा भूमि अधिग्रहण मुआवजा योजना का भी विरोध करना शुरू कर दिया है। किसानों का कहना है की ई- पोर्टल द्वारा किसानों को प्रति एकड़ 28 लाख के करीब मुआवजा दिया जा रहा है। जबकि पहले करोड़ों रुपए प्रति एकड़ का मुआवजा किसानों को मिला था। ई - पोर्टल किसानों के साथ धोखा हैं। उन्हें यहां करोड़ों रुपए प्रति एकड़ का रेट है सरकार को मुआवजा राशि बढ़ानी होगी।

25 जनवरी को महापंचायत

धरने पर बैठे किसान नेताओं ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा की चेतावनी महापंचायत में जो फैसले लिए गए अब 25 जनवरी से किसान उन्हें फॉलो करेंगे। किसान भूख हड़ताल भी करेंगे, हाइवे भी जाम करेंगे और इससे जयादा भी उन्हें कोई विरोध प्रदर्शन करन पड़े तो भी किसान उसके लिए तैयार हैं सबसे पहले 11 किसान रोजाना भूख हड़ताल पर बैठेंगे। उसके बाद कई अहम गुप्त फैसलों पर अमल किया जायेगा चाहे आंदोलन कितने भी दिन क्यों न चलाना पड़े और कोई भी कुर्बानी देनी पड़े उससे पीछे नहीं हटेंगे। किसान सरकार को झुकाकर ही दम लेंगे और अपनी मांगों को मनवाकर ही अपने घर जायेंगे। किसान नेता रतन सिंह सौरोत, नाहर सिंह ड़ागर ने जानकारी दी।

हिन्दुस्थान समाचार/गुरूदत्त/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story