जींद: सरपंच धरनास्थलों पर ही करेंगे ध्वजारोहण



जींद, 25 जनवरी (हि.स.)। ई-टेंडरिंग और राइट टू रिकॉल के विरोध में बीडीपीओ कार्यालय के सामने सरपंचों का धरना बुधवार को जारी रहा। एसोसिएशन ने निर्णय लिया कि 26 जनवरी को भी किसानों का धरना जारी रहेगा और सरकार के किसी भी व्यक्ति या नेता के किसी भी कार्यक्रम में न तो सहयोग किया जाएगा और न ही भाग लिया जाएगा। सभी सरपंच अपने-अपने धरनास्थल पर ही ध्वजारोहण करेंगे। उधर, जुलाना में धरने को समर्थन देने के लिए जजपा विधायक अमरजीत ढांडा बीडीपीओ कार्यालय पहुंचे और सरपंचों की मांग का समर्थन किया।

विधायक ने कहा कि सरपंचों से दो लाख में कोई भी विकास कार्य नहीं होगा। उन्होंने कई बार ई-टेंडरिंग का विरोध विधानसभा में भी किया है और आने वाले बजट स्तर में वो सरपंचों की मांग को जोर शोर से उठाएंगे। जींद ब्लॉक सरपंच एसोसिएशन की प्रधान प्रीति मनोहरपुर, मांडो खेड़ी के सरपंच अनिल, हैबतपुर सरपंच रिषिपाल ने कहा कि 26 जनवरी को भी सरपंच अपनी मांगों को लेकर धरना देंगे और सरकार के किसी भी व्यक्ति या नेता के किसी भी कार्यक्रम में न तो सहयोग किया जाएगा और न ही भाग लिया जाएगा। जब तक ई-टेंडरिंग और राइट टू रिकॉल का फैसला वापस नहीं होता, तब तक उनका धरना समाप्त नहीं होगा। पंचायत मंत्री ने सरपंचों के अधिकार छीनने का काम किया है। दो लाख रुपये तक कामों की मैनुअल पावर ही सरपंचों को दी गई है लेकिन उनकी मांग है कि कम से कम 20 लाख रुपये तक के कार्यों को मैनुअली करवाने की पावर सरपंचों के पास होनी चाहिए। इसके अलावा सरपंचों का मानदेय बढ़ाया जाए।

जुलाना में भी रहा धरना जारी

सरपंचों ने जुलाना बीडीपीओ कार्यालय को ताला लगाया था और धरने पर बैठ कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे तो समर्थन देने के लिए जुलाना से जजपा के विधायक अमरजीत ढांडा धरना स्थल पर पहुंचे। धरने पर बीडीपीओ ने कहा कि डीसी के आदेश हैं कि ताला खोला जाए जो बीच में आएं तो उसके खिलाफ पर्चा दर्ज करवा देें। काफी देर तक विधायक और बीडीपीओ के बीच नोंकझोंक चलती रही, लेकिन काफी जद्दोजहद के बाद सरपंचों ने कार्यालय का ताला खोल दिया। इस अवसर पर पूर्व जिला प्रधान राजेश गोयत, पवन लाठर, सोल्जर, अनिल, कुलदीप आदि सरपंच मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/ विजेंद्र/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story