हड़ताल से मुझे एतराज नहीं, मरीजों का नुकसान नहीं होना चाहिए: अनिल विज

हड़ताल से मुझे एतराज नहीं, मरीजों का नुकसान नहीं होना चाहिए: अनिल विज


-डॉक्टर्स हड़ताल पर गृहमंत्री ने एकाध दिन में मुद्दे का हल निकालने की कही बात

चंडीगढ़, 25 नवम्बर (हि.स.)। हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि डॉक्टर्स हड़ताल से उन्हें एतराज नहीं है, बशर्ते मरीजों का नुकसान नहीं होना चाहिए। डॉक्टर्स के मुद्दे पर उनकी मुख्यमंत्री मनोहर लाल से चर्चा हुई है। मुख्यमंत्री भी खुद इसमें संज्ञान ले रहे हैं। एक-दो दिन में हल निकल जाएगा।

अनिल विज ने डॉक्टर्स से अपील करते हुए कहा कि आप लोग आंदोलन करें, आंदोलन का अधिकार है और इस पर कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन मानवता के आधार पर डॉक्टर्स को मरीजों के बारे में जरूर विचार करना चाहिए। कॉमन कैडर के मुद्दे पर यह पहले ही तय हो चुका है कि पीजीआई डॉक्टरों को ऑप्शन दिया जाएगा। वह पीजीआई कैडर में रहना चाहते हैं या कॉमन कैडर में जाना चाहते हैं। यह बात पीजीआई डॉक्टरों के प्रतिनिधियों से पहले ही बातचीत में तय हो चुकी है।

चंडीगढ़ पर पंजाब और हरियाणा का बराबर हक

विज ने कहा कि जब तक हमें पानी और हिंदी भाषी क्षेत्र नहीं मिल जाता, अंगद के पैर के तौर पर हम चंडीगढ़ में डटे हुए हैं। दिल्ली में चल रही जान से मारने वाली धमकी वाली विवादित खबर पर विज बोले, आम आदमी पार्टी की उत्तर प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड में जो राजनीतिक पिटाई हुई है, अब ऐसी ही गुजरात, हिमाचल और दिल्ली नगर निगम में होने जा रही है।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि पंजाब के हालात को देखते हुए हम चिंतित हैं। हरियाणा में हमने कई कदम उठाए हैं। दिल्ली में आप वाले कहते थे कि हमारे पास पुलिस नहीं है। पंजाब में पुलिस आपके पास है, फिर भी हालात खराब हैं।

हरियाणा में 29 से स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना की शुरुआत

उन्होंने कहा कि 29 नवंबर को प्रदेश में स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना की शुरुआत की जाएगी, इसकी शुरूआत करने वाला हरियाणा देश का इकलौता राज्य होगा। उन्होंने कहा कि हम हर प्रदेशवासी का मेडिकल कार्ड बनाने जा रहे हैं, ताकि एक ही कार्ड पर सारी जानकारी आ जाए। पहले अंत्योदय परिवारों का, फिर फेस के हिसाब से पूरे प्रदेश में योजना लागू हुई।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story