कैथल:एचकेआरएन में नौकरी के नाम पर 20 लाख ठगे

WhatsApp Channel Join Now
कैथल:एचकेआरएन में नौकरी के नाम पर 20 लाख ठगे


पति पत्नी सहित छह लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज

कैथल, 11 जुलाई (हि.स.)। हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से दो लोगों को नौकरी लगवाने के नाम पर कुछ लोगों ने मिलकर 20 लख रुपए ठग लिए। पुलिस ने पति-पत्नी सहित 6 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। डीएसपी कलायत को दी शिकायत में गांव बरटा निवासी दिनेश कुमार ने बताया कि वह और उसका छोटा भाई नरेश दोनों बेरोजगार थे और रोजगार की तलाश में थे फरवरी 2023 में उसके गांव के सेवा व विक्रम उसे उसके घर आकर मिले। दोनों ने उन्हें संजीव व उसकी पत्नी नैंसी से मिलवाया। जिन्होंने बताया कि उनकी सरकार में अच्छी जान पहचान है और वह दोनों भाइयों को कौशल रोजगार निगम में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी दिलवा सकते हैं।

उसे समय उनके पास उसके ताऊ का लड़का सुरजीत भी आया हुआ था। दोनों ने सलाह करके दोनों भाइयों के साथ सुरजीत के पुत्र अजय व दामाद सोनू को भी नौकरी लगवाने की उनसे बातचीत कर ली। विक्रम, सेवा, जसपाल, संजीव, नैन्सी ने प्रति व्यक्ति पहले पांच पांच लाख खर्च आना बतलाया और फाइल खर्च के लिए 3 लाख नगद कैश देने के लिए कहा। उन्होंने उनसे दो दिन का टाइम लिया। इसके बाद दोनों ने कहीं से प्रबंध करके उन्हें 3 लाख रुपए नगद दे दिए। इसके बाद सभी लोगों ने मिलकर सरपंच सुरजीत के पुत्र अजय व दामाद सोनू की ईमेल आईडी पर 5 मार्च 2023 को कौशल रोजगार निगम की ईमेल आईडी से मिलती-जुलती आईडी से फर्जी अपॉइंटमेंट लेटर भेज दिए।

इसके बाद सभी आरोपियों ने पूरी पेमेंट लेने के बाद ही जॉइनिंग करवाने की बात कही। इसके बाद उन्होंने बकाया पेमेंट अपने रिस्तेदार गुरमीत कुंडू मोहलखेड़ा, नरवाना, व मोहित, व अपने दोस्त के खातों में रूपए जमा करवाए। इस तरह उन्होंने नौकरी लगवाने के नाम पर उनसे 20‌ लाख रुपए ठग लिए। संगतपुरा चौकी के जांच अधिकारी एएसआई विक्रम ने बताया कि सभी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच जारी है।

समाप्त

हिन्दुस्थान समाचार / नरेश कुमार भारद्वाज / सुमन भारद्वाज / संजीव शर्मा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story