भिवानी : 15 वर्षों बाद दिव्यांगजन आयुक्त राजकुमार मक्कड़ को मिलेगा सर्वश्रेष्ठ दिव्यांगजन पुरस्कार

भिवानी : 15 वर्षों बाद दिव्यांगजन आयुक्त राजकुमार मक्कड़ को मिलेगा सर्वश्रेष्ठ दिव्यांगजन पुरस्कार


भिवानी, 22 नवंबर (हि.स.)। दिव्यांगजन आयुक्त राज कुमार मक्कड़ को दिव्यांगजन पुरस्कार के सभी पैरामीटर पूरा करने पर सर्वश्रेष्ठ दिव्यांगजन पुरस्कार तीन दिसंबर को विश्व दिव्यांग दिवस पर मिलेगा। यह पुरस्कार 15 साल बाद मिला है, क्योंकि इन 15 सालों में किसी ने भी इस पुरस्कार के सभी पैरामीटर पूरे नहीं किए थे। स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से सभी दिव्यांगजनों की यूडीआईडी कार्ड शीघ्र बनवाए जाएंगे। दिव्यांगजन चर्चा का विषय बने और समाज आगे आकर इनको आगे बढऩे में सहयोग करे।

लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में राज्य आयुक्त (दिव्यांगजन) राज कुमार मक्कड़ ने पत्रकारों से रूबरू होते हुए मंगलवार को खुला दरबार लगाकर दिव्यांगजनों की समस्याएं सुनी और संबंधित अधिकरियों को अवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि समस्या के लिए दिव्यांगमित्र पोर्टल भी बनाया गया है, जिस पर ऑनलाईन अपनी समस्या का ब्यौरा डालकर समाधान करवा सकता है। एक से सात दिसंबर तक दिल्ली के इंडिया गेट पर दिव्यांगजनों के लिए एक मेले का आयोजन किया जा रहा है। इस मेले में प्रतीभा दिखाने के लिए दिव्यांगजनों को एक प्लेटफार्म दिया गया है। इस मेले में हरियाणा को 100 स्टॉल आंवटित की गई हैं। दिव्यांगजनों के लिए स्पेशल एजूकेटर की पोस्ट की निकाली गई है। यूडीआईडी कार्ड बनाने की अंतिम 31 दिसंबर 2022 से बढ़ाकर एक अप्रैल 2023 कर दी गई है।

आयुक्त ने कहा कि दिव्यांगता कोई अभिशाप नहीं है। हर व्यक्ति को परमात्मा ने कुछ अनमोल दिया है। आज दिव्यांग प्रत्येक क्षेत्र में सामान्य व्यक्ति से कम नहीं हैं। खेल, शिक्षा इत्यादि क्षेत्रों में दिव्यांगों ने देश का नाम रोशन किया है। समाज में अगर कोई दिव्यांग है तो उसकी मदद करना सिर्फ उनके माता-पिता का दायित्व नहीं है, बल्कि पूरे समाज का दायित्व है। राज्य आयुक्त राज कुमार मक्कड़ ने कहा कि हम सभी ने अपना व दिव्यांगजनों की जीवनशैली में सुधार करना है, इसके लिए जन जागरण अभियान भी चलाए। दिव्यांगजनों के उज्ज्वल भविष्य व उनके बेहतर जीवन यापन के लिए सरकार द्वारा अथक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आमजन जागरूक होगा तो समानता का अधिकार अधिनियम भी बेहतर ढंग से लागू हो पाएगा। दिव्यांगजन समाज में उपयोगी है और वे समाज का अभिन्न अंग है। इस दौरान श्री मक्कड़ ने विभिन्न खेलों में पदक हासिल करने मुकबधीर दिव्यांगजन बच्चों को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

हिन्दुस्थान समाचार/इन्द्रवेश/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story