समिट इंडिया ने मुख्य भूमिकाओं में प्रतिष्ठित लीडर्स को नियुक्त किया

समिट इंडिया ने मुख्य भूमिकाओं में प्रतिष्ठित लीडर्स को नियुक्त किया
समिट इंडिया ने मुख्य भूमिकाओं में प्रतिष्ठित लीडर्स को नियुक्त किया


नई दिल्ली, 16 मई (हि.स.)। समिट इंडिया ने संगठन के अंदर कई प्रतिष्ठित लोगों को महत्वपूर्ण कार्यभार सौंपने की घोषणा की है, जिससे संगठन की लीडरशिप टीम मजबूत बनेगी।

समिट इंडिया के अनुसार ब्रिगेडियर गौतम गांगुली को चेयरपर्सन, प्लानिंग एवं स्ट्रेट्जी काउंसिल; संजय श्रीवास्तव को चेयरमैन, उत्तराखंड चैप्टर; राम विलास वेदांती को इंटरनेशनल प्रेसिडेंट, अयोध्या प्रोजेक्ट; डॉ. आरके वर्मा को चेयरपर्सन, इंटरनेशनल काउंसिल फॉर हेल्थ एंड एजुकेशन और जिग्नेश विराडिया को चेयरपर्सन, घाना चैप्टर का कार्यभार सौंपा गया है।

इस नियुक्ति के बारे में महासचिव महेश वर्मा समिट इंडिया ने कहा ने कहा, ‘‘हमें समिट इंडिया में महत्वपूर्ण पदों पर इन प्रतिष्ठित लोगों की नियुक्ति की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। इनमें से प्रत्येक के पास अपनी भूमिकाओं में विशेषज्ञता, नेतृत्व और प्रतिबद्धती की अद्वितीय पूंजी है। उनकी रणनीतिक दूरदर्शिता और वर्षों के अनुभव के साथ वो हमारे संगठन की वृद्धि और सफलता में महत्वपूर्ण योगदान देंगे। हम उनके बहुमूल्य योगदान के साथ अपने मिशन को आगे बढ़ाने और अपने समुदायों में सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करने के लिए आशान्वित हैं।’’

समिट इंडिया ने नए कार्यभार संभालने वालों के बारे में जानकारी दी है। इनमें संजय श्रीवास्तव पत्रकार, लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जिन्हें मीडिया में काम करने का 25 सालों का अनुभव है।

जिग्नेश विराडिया जी एक डायनैमिक उद्यमी और बिज़नेस लीडर हैं, जो स्वास्थ्य, ‘मेक इन इंडिया’ कंपनियों और उत्पादों को बढ़ावा देने, फाइनेंसिंग एवं एग्रोकमोडिटीज़ जैसे क्षेत्रों में विस्तृत पोर्टफोलियो संभाल चुके हैं। वो घाना में भारतीय समुदायों में एक प्रतिष्ठित हस्ती हैं और सामुदायिक विकास एवं सांस्कृतिक एकीकरण के अनेक प्रभावशाली अभियानों में मुख्य भूमिका निभा चुके हैं।

ब्रिगेडियर गौतम गांगुली सेना मेडल, विशिष्ट सेवा मेडल के साथ रेजिमेंट ग्रेनेडियर्स से भारतीय सेना के एक अत्यधिक सम्मानित सैन्य अधिकारी हैं। वह नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) ब्लैक कैट कमांडोज़ में फोर्स कमांडर के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उन्होंने भारत में एनएसजी ऑपरेशंस का, मुख्यतः पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले के दौरान नेतृत्व किया है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर और उत्तर-पूर्व में 50 से ज्यादा आतंकवादियों को खत्म करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वो एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं और शहीदों के परिवारों के लिए काम कर रहे हैं। उन्हें एफबीआई द्वारा बम निष्क्रिय करने का प्रशिक्षण भी दिया गया है। वर्तमान में वह भारत में आत्म निर्भर भारत के अंतर्गत हथियारों और ड्रोन्स के निर्माण में शामिल हैं।

राम विलास वेदांती एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। वो एक धार्मिक हिंदू नेता हैं और 12वीं लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रतापगढ़ (उत्तर प्रदेश) लोकसभा सीट से सांसद रहे हैं। वह श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य और विश्व हिंदू परिषद के सदस्य हैं।

डॉ. राकेश वर्मा नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली में कार्डियोलॉजी के प्रोफेसर हैं, जिन्हें अपने क्षेत्र का विस्तृत अनुभव और विशेषज्ञता प्राप्त है। एक प्रतिष्ठित करियर के साथ डॉ. वर्मा कई महत्वपूर्ण भूमिकाओं में अपनी सेवाएं दे चुके हैं, जिनमें से एक भारत के प्रधानमंत्री के फिज़िशियन का दायित्व भी है। उनके योगदान क्लिनिकल अभ्यास से बढ़कर रहे हैं। उन्होंने डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विसेस और वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज में एडिशनल प्रोफेसर और हेड ऑफ कार्डियोलॉजी के रूप में भी अपनी सेवाएं दी हैं। इसके अलावा डॉ. वर्मा भारत सरकार के अधीन अतिरिक्त सफदरजंग हॉस्पिटल में मेडिकल सुपरिंटेंडेंट के प्रतिष्ठित पद पर भी रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि समिट इंडिया एक पंजीकृत ट्रस्ट है, जिसका मिशन शिक्षा, कौशल विकास, स्वास्थ्य और पर्यावरण, कला और संस्कृति आदि से संबंधित समाज में जागरूकता फैलाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के साथ संयुक्त रूप से काम करना है।

हिन्दुस्थान समाचार/ अनूप/दधिबल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story