एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 का वित्तीय लक्ष्य 3795.30 करोड़ रुपये हासिल किया

एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 का वित्तीय लक्ष्य 3795.30 करोड़ रुपये हासिल किया
एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 का वित्तीय लक्ष्य 3795.30 करोड़ रुपये हासिल किया


एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 का वित्तीय लक्ष्य 3795.30 करोड़ रुपये हासिल किया


एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 का वित्तीय लक्ष्य 3795.30 करोड़ रुपये हासिल किया


नई दिल्ली, 3 अप्रैल (हि.स.)। नई दिल्ली पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने वित्त वर्ष 2023-24 का वित्तीय लक्ष्य 3795.30 करोड़ रुपये हासिल कर लिया है। एनडीएमसी ने वित्तीय वर्ष 2023-2024 में 1025.59 करोड़ रुपये का संपत्ति कर, 937 करोड़ रुपयों का लाइसेंस शुल्क, 1811.71 करोड़ रुपयों का वाणिज्यिक राजस्व और 21 करोड़ रुपयों का पार्किंग शुल्क राजस्व के रूप में एकत्र किया।

एनडीएमसी द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि एनडीएमसी ने राजस्व संग्रह से न केवल लक्ष्य को पूरा किया गया, बल्कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के लक्ष्य से अधिक अर्जित किया गया है। एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 में अपने विभिन्न राजस्व स्रोतों जैसे संपत्ति कर, लाइसेंस शुल्क, वाणिज्यिक राजस्व (पानी और बिजली) और पार्किंग शुल्क से कुल 3795.30 करोड़ का राजस्व एकत्र किया है।

एनडीएमसी संपत्ति कर की दर में कोई वृद्धि किए बिना अपने संपत्ति कर राजस्व संग्रह में लगातार वृद्धि कर रही है। इस नगर निकाय के इतिहास में पहली बार संपत्ति कर राजस्व संग्रह 1000 करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर गया है।

एनडीएमसी ने अपने संपत्ति कर लक्ष्य 1150 करोड़ रुपये की तुलना में 1025.59 करोड़ रुपये का राजस्व संपत्ति कर के रूप में एकत्रित किया है। जबकि एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2022-23 में 931.20 करोड़ रुपये वित्त वर्ष 2021-22 में 950.75 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2020-21 में 690.78 करोड़ रुपये का संपत्ति कर राजस्व के रूप में एकत्रित किया था।

इसी तरह से वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान बिजली और पानी की आपूर्ति में एनडीएमसी ने 1659.95 करोड़. रुपये के लक्ष्य की तुलना में 1811.71 करोड़ रुपये का वाणिज्यिक राजस्व एकत्र किया है, जबकि यह राजस्व वित्त वर्ष 2021-22 में 1503 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2022-23 में 1722 करोड़ रुपये था।

एनडीएमसी ने वित्त वर्ष 2023-24 के लिए लाइसेंस शुल्क संग्रह के लक्ष्य को पार कर लिया है। संपदा विभाग ने लाइसेंस फीस के लक्ष्य 825 करोड़ रुपये के मुक़ाबले 937 करोड़ रुपये का राजस्व वसूल करके एक नया कीर्तिमान बनाया है।

यह पहली बार हुआ है कि संपदा विभाग ने न केवल लक्ष्य को हासिल किया है बल्कि लाइसेंस शुल्क संग्रह के पूर्व आंकड़ो के मुक़ाबले एक नया बेंचमार्क भी स्थापित किया है। वित्त वर्ष 2022-23 में लाइसेंस शुल्क वसूली का आंकड़ा 628.68 करोड़ रुपये था, जो कि वित्त वर्ष 2021-22 में 527.74 करोड़ रुपये रहा।

एनडीएमसी ने पार्किंग शुल्क से इस वित्त वर्ष में 21 करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र किया, जो कि इस वित्त वर्ष के लक्ष्य 20 करोड़ रुपयो से एक करोड़ रुपये अधिक है। पालिका परिषद के अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई देते हुए एनडीएमसी के अध्यक्ष अमित यादव ने कहा कि एनडीएमसी कर्मचारियों और अधिकारियों के समर्पण और टीम भावना से ही यह महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल हुई है।

हिन्दुस्थान समाचार/ बिरंचि सिंह/अनूप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story