धमतरी : भूजल के अत्यधिक दोहन से घट रहा जलस्तर, पेड़ों को संरक्षित करने बांधा जा रहा रक्षा सूत्र

धमतरी : भूजल के अत्यधिक दोहन से घट रहा जलस्तर, पेड़ों को संरक्षित करने बांधा जा रहा रक्षा सूत्र
धमतरी : भूजल के अत्यधिक दोहन से घट रहा जलस्तर, पेड़ों को संरक्षित करने बांधा जा रहा रक्षा सूत्र


धमतरी : भूजल के अत्यधिक दोहन से घट रहा जलस्तर, पेड़ों को संरक्षित करने बांधा जा रहा रक्षा सूत्र


गांवों में हो रहे विविध आयोजन

धमतरी, 9 जून (हि.स.)। पर्यावरण प्रबंधन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत जिले के गांव-गांव में स्वच्छ हरित ग्राम सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसी क्रम में रविवार को ग्राम पंचायत पोटियाडीह, परसतराई, खरतुली सहित अनेक गांव में सफाई अभियान, जल बचाव, पौधे लगाओ अभियान चलाया गया। पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से पेड़ों को रक्षासूत्र बांधा गया। स्वच्छता व पर्यावरण संरक्षण की शपथ ली गई।

कार्यक्रम के दौरान ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों के द्वारा श्रमदान के माध्यम से सार्वजनिक स्थलों की साफ-सफाई, दीवार लेखन, स्वच्छता एवं पेयजल पर आधारित नारा लेखन, स्वच्छता के तहत सामुदायिक शौचालय की साफ-सफाई, सोकपिट-रिचार्ज पिट मरम्मत एवं निर्माण कराये जा रहे हैं। साथ ही पर्यावरण जागरुकता के लिए पुराने वृक्षों पर जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणजनों द्वारा रक्षा सूत्र बांधकर पेड़ों की रक्षा करने लोगों को सजग किया जा रहा है। वर्षा प्रारंभ होने के पूर्व तालाब एवं सार्वजनिक स्थानों पर पौधारोपण के लिए गढ्ढे की खुदाई किया गया, ताकि हरियाली के लिए समय पर पौधारोपण की जा सके।

भू-जल के अत्यधिक दोहन के कारण घट रहा भू-जलस्तर

जनपद पंचायत धमतरी सीईओ दीपक ठाकुर ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार स्वच्छ हरित ग्राम सप्ताह के आयोजन में ग्रामीणजन बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। यह आयोजन स्वच्छता पर केन्द्रित एक परिवर्तनकारी चरण का प्रतिनिधित्व करती है। जनपद पंचायत कुरुद सीईओ बीआर वर्मा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भू-जलस्तर में गिरावट एक प्रमुख चिंता का विषय है। क्योंकि यह पेय जल का प्राथमिक स्रोत है। भू-जल की कमी के कारण सिंचाई के लिए भू-जल का अत्यधिक दोहन शहरीकरण और जलवायु परिवर्तन शामिल होने की जानकारी लोगों को दी। विकासखंड नगरी की ग्रामीण महिलाओं ने स्वच्छ हरित ग्राम सप्ताह कार्यक्रम में जल, जंगल व जमीन की रक्षा के लिए पेड़ों पर रक्षा सूत्र बांधकर पर्यावरण बचाने का संकल्प लिया और यह भी कहा कि पेड़ों से आक्सीजन, कृषि भूमि का नमी व जीवन के लिए पानी तभी संभव है जब पेड़ बचेंगे। इस अवसर पर ग्रीन आर्मी दीदियों का श्रीफल भेंटकर एवं गुलाल से टीका लगाकर सम्मान किया गया।

गांवों में विशाल पेड़ों को बांधा गया रक्षा सूत्र

धमतरी विकासखंड के ग्राम पंचायत पोटियाडीह, परसतराई, खरतुली, रांवा, सांकरा(स), कुरूद विकासखंड के ग्राम पंचायत कन्हारपुरी, कातलबोड़, धूमा, कचना, मड़ेली, चटौद, मगरलोड विकासखंड के ग्राम पंचायत कोरगांव, राजपुर, सोनपैरी, हसदा, सिंगपुर नगरी विकासखंड के ग्राम पंचायत मौहाबाहरा, खम्हरिया, मुनईकेरा, सिहावा, कल्लेमेटा, गुहाननाला की महिलाओं ने पुराने पीपल, बरगद एवं विभिन्न प्रजाति के वृक्षों को ग्रामीणजनों की उपस्थिति में रक्षासूत्र बांधकर उनकी रक्षा करने का संकल्प लिया।

ग्राम पंचायत पोटियाडीह के सरपंच सीताराम ध्रुव ने बताया कि पेड़ पौधे जीवन के आधार होते हैं इसलिए हमें इनकी रक्षा करनी चाहिए। उन्होंने लोगों से अधिक से अधिक पौधे लगाने और उनकी रक्षा करने की अपील की।

हिन्दुस्थान समाचार/ रोशन सिन्हा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story