जांजगीर: मुख्यमंत्री कन्यादान योजना से जिले के 101 जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधे

जांजगीर: मुख्यमंत्री कन्यादान योजना से जिले के 101 जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधे
जांजगीर: मुख्यमंत्री कन्यादान योजना से जिले के 101 जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधे


जांजगीर: मुख्यमंत्री कन्यादान योजना से जिले के 101 जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधे


































कैबिनेट एवं जिला प्रभारी मंत्री ओ पी चौधरी ने नवविवाहित जोड़ों को दिया आशीर्वाद

कोरबा/जांजगीर, 10 फरवरी (हि.स.)। जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला में आज मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत 101 जोड़े विवाह संपन्न कराया गया। इस अवसर पर कैबिनेट एवं जिला प्रभारी मंत्री ओपी चौधरी,जांजगीर चांपा विधायक व्यास कश्यप, पामगढ़ विधायक शेषराज हरवंश, पूर्व विधायक सौरभ सिंह, पूर्व नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, पूर्व विधायक जांगड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष यनिता चंद्रा, जिला पंचायत उपाध्यक्ष राघवेंद्र प्रताप सिंह कलेक्टर आकाश छिकारा ने नवविवाहित जोड़े को आशीर्वाद दिया। साथ ही सुखी दाम्पत्य की शुभकामना भी दी साथ ही उपहार भेंट किए।

चौधरी ने कहा कि निर्धन कन्याओं के लिए मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना वरदान है। इस योजना के माध्यम से फिजुल खर्च एवं दहेज प्रथा जैसे कुरीतियों को समाप्त करने का एक अच्छा माध्यम है। अब ऐसे कन्याओं के माता-पिता को आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ रहा। ज़िला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास अनिता अग्रवाल ने बताया कि आज मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना से लाभान्वित करते हुए 101 जोड़े विवाह बंधन में बंधे।

इस अवसर पर गुलाब चंदेल, गगन जयपुरिया, विद्या सिदार, अमर सुल्तानिया, सुमित प्रताप सिंह, प्रीति देवी, प्रशांत सिंह, आशुतोष गोस्वामी, शेखर चंदेल, प्रशांत सिंह ठाकुर सहित अन्य जनप्रतिपिनिधि गण, अधिकारी-कर्मचारी, बड़ी संख्या में नागरिकजन उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत् प्रति जोड़ा 50 हजार रुपये का व्यय निर्धारित है। जिसमें 6 हजार रुपये वस्त्र, श्रृंगार सामग्री, आभूषण पर, 8 हजार रुपये विवाह के आयोजन पर, 15 हजार रुपये प्रोत्साहन सामग्री व 21 हजार बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से वधु को दिया जाता है। नवविवाहित जोड़ों को जीवनोपयोगी विभिन्न सामग्रियां जैसे कुकुर, बर्तन गद्दा, आलमीरा, वैवाहिक वस्त्र, मंगलसूत्र, बिछिया, पायल, वैवाहिक वस्त्र, श्रृंगार सामग्रियां आदि उपहार स्वरूप प्रदान किए जाते है। इसके अतिरिक्त विवाह का आयोजन शासकीय स्तर पर किया जाता है।

हिन्दुस्थान समाचार/ हरिश तिवारी

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story