मुख्यमंत्री बताए कि क्या विधानसभा विशेष सत्र के बाद आदिवासियों को नौकरी मिलने लगगी : केदार कश्यप

मुख्यमंत्री बताए कि क्या विधानसभा विशेष सत्र के बाद आदिवासियों को नौकरी मिलने लगगी : केदार कश्यप


जगदलपुर, 25 नवंबर (हि.स.)। प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने शुक्रवार को कांग्रेस सरकार पर छत्तीसगढ़िया समाज के सभी वर्गों के साथ छल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री बताए कि क्या विधानसभा के विशेष सत्र के तुरंत बाद आदिवासियों को नौकरी मिलने लग जाएगी? क्या मेडिकल शिक्षा एमबीबीएस में इस वर्ष जनजाति वर्ग के 104 बच्चों का जो नुकसान हो रहा था, उन बच्चों को मेडिकल कॉलेज में प्रवेश दिलाया जायेगा? क्या रुकी हुई भर्ती प्रक्रिया 03 दिसंबर से शुरू हो जाएंगी? प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेस फिर से आदिवासियों को गुमराह करने के प्रयास में है, लेकिन छत्तीसगढ़ का आदिवासी समाज गुमराह नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि यह सरकार केवल राजनीतिक छल कपट करना जानती है। जो लोग आदिवासी आरक्षण के खिलाफ पिटीशन लगाते हैं, कांग्रेस सरकार उन्हें पुरस्कृत करती है, सत्ता की मलाई खिलाती है। आदिवासी वर्ग के आरक्षण के खिलाफ जिसने पिटीशन लगाई, उसे अभी भूपेश सरकार ने आयोग का अध्यक्ष बनाकर पुरस्कृत किया गया है। कांग्रेस ने ओबीसी वर्ग के साथ भी विश्वासघात किया, 27 प्रतिशत आरक्षण का वादा किया और अपने ही आदमी से इसके खिलाफ चुनौती पेश करवा दी। पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के लिए जिसने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की और उस पर स्टे लगवाया, उसे भूपेश सरकार पहले ही राज्य मंत्री बना चुकी है।

प्रदेश भाजपा महामंत्री केदार कश्यप ने कहा कि छत्तीसगढ़ में ऐसा कोई वर्ग बचा नहीं है, जिसे भूपेश बघेल की कांग्रेस सरकार ने छला नहीं है। भूपेश सरकार के दोहरे चरित्र को छत्तीसगढ़ की जनता जान चुकी है। यह सरकार बेनकाब हो चुकी है। विधानसभा के विशेष सत्र में भूपेश बघेल को शपथ पत्र देकर छत्तीसगढ़ की जनता को विश्वास दिलाना चाहिए कि अपने किसी चंगू मंगू को उच्च न्यायालय में याचिका लगवाकर अपने उस विधेयक को निरस्त नहीं करवाएंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story