जिले में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों का हुआ लाइव ऑडिट

जिले में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों का हुआ लाइव ऑडिट


जिले में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों का हुआ लाइव ऑडिट


जिले में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों का हुआ लाइव ऑडिट


किशनगंज,24 नवम्बर (हि.स.)। जिले में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में फर्जीवाड़ा रोकने तथा क्रॉस मूल्यांकन के लिए जिला स्तरीय टीम ने जिले के पंजीकृत प्राइवेट स्वास्थ्य संस्थानों के मरीजों का लाइव ऑडिट किया जा रहा है।

जिले में अभी तक 1 लाख 68 के आसपास आयुष्मान योजना के तहत गोल्डन कार्ड बनाया जा चुका है। वहीं 80889 परिवारों को कुल लक्ष्य 217430 परिवार के आलोक में कार्ड निर्गत किया गया है।जिले में अब तक कुल 10 हजार से अधिक लाभूक ने इसका लाभ उठाया है।

आयुष्मान भारत के जिला कार्यक्रम समन्वयक कुमार पंकज ने बताया की योजना से संबंधित सूचीबद्ध निजी अस्पतालों के द्वारा किए जा रहे इलाज में उचित प्रक्रिया को अपनाने एवं लाभार्थियों को मिलने वाले सुविधाओं को प्रभावी बनाने के उद्देश्य से भर्ती मरीजों का लाइव ऑडिट किया जा रहा है।

उन्होंने बताया की बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी के निर्देशानुसार जिला क्रियान्वयन की इकाई मधुबनी के जिला कार्यक्रम समन्वय सह प्रभारी पदाधिकारी कुमार प्रियरंजन तथा जिला आईटी प्रबंधक, प्रभाकर रंजन के द्वारा संयुक्त रूप से प्रत्येक माह इस कार्य को अचूक रूप से किया जाएगा तथा प्रतिवेदन राज्य कार्यालय को भेजा जाना है।

एसीएमओ डॉ सुरेश प्रसाद ने बताया आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से केंद्र सरकार गरीब, उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना चाहती है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये का मुफ्त इलाज किया जाता है। इसे सुचारू रूप से लागू करने के लिए डिस्ट्रिक्ट एंटी फ्रॉड यूनिट के अलावा जिले में डीआरजीसी (डिस्ट्रिक्ट ग्रिवांस रेड्रेसल कमिटी) का गठन किया गया है। जहां लोग योजना से संबंधित ऑनलाइन तथा ऑफलाइन शिकायत भी कर सकते हैं जिसके तहत किसी भी तरह का शिकायत जैसे पात्र लाभार्थी का कार्ड बनने में परेशानी, चिकित्सा सुविधा में परेशानी, या इलाज में अस्पतालों द्वारा पैसे का मांग उसका समाधान कमेटी के द्वारा किया जाता है।इस कमेटी का अध्यक्ष डीएम को बनाया गया है।उपाध्यक्ष सिविल सर्जन को बनाया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/धर्मेन्द्र

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story