दो हत्या और लूट की घटना से पहले सरगना सहित चार पेशेवर अपराधी गिरफ्तार



दो हत्या और लूट की घटना से पहले सरगना सहित चार पेशेवर अपराधी गिरफ्तार


दो हत्या और लूट की घटना से पहले सरगना सहित चार पेशेवर अपराधी गिरफ्तार


बेगूसराय, 17 मार्च (हि.स.)। बेगूसराय में हत्या और स्वर्ण व्यवसायी के यहां बड़ी लूट की घटना को अंजाम देने से पहले चार पेशेवर अपराधियों को पिस्टल, पिस्तौल, गोली एवं गांजा के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अपराध की योजना बनाते अगर यह सब अपराधी नहीं पकड़े जाते तो मार्च महीने में ही शहर में तीन बड़ी घटना को अंजाम देकर सनसनी फैलाने वाले थे।

शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी योगेन्द्र कुमार ने बताया कि मुफस्सिल थाना के पुलिस पदाधिकारी को गुप्त सूचना मिली की चिलमिल स्थित अपराधी श्रवण पासवान के घर पर कुछ अपराधी अवैध हथियार के साथ गांजा की खरीद बिक्री करने एवं किसी बड़ी आपराधिक घटना को अंजाम देने के लिए इकट्ठा हुए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस पदाधिकारी राजीव रंजन, रवि प्रसाद सिंह, मनोज प्रसाद एवं सशस्त्र बल द्वारा चिलमिल में श्रवण पासवान के घर पर घेराबंदी कर छापेमारी किया गया।

पुलिस को देखते ही सभी अपराधी भागने लगे, लेकिन टीम ने करीब दो किलोमीटर तक पीछा करते हुए मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कैथमा निवासी सुपारी किलर रूपेश कुमार उर्फ बिट्टू, बड़ी सांख निवासी मुकेश कुमार यादव उर्फ रंजीत कुमार, बड़ी सांख निवासी रौशन कुमार एवं चिलमिल निवासी श्रवण पासवान को गिरफ्तार कर लिया। इन लोगों के पास से मैगजीन लोडेड एक पिस्टल, एक देशी पिस्तौल, आठ जिंदा गोली एवं ढ़ाई किलोग्राम गांजा बरामद किया गया है।

एसपी ने बताया कि रूपेश कुमार उर्फ बिट्टू कुख्यात अपराधी है। उस पर हत्या, लूट एवं रंगदारी के छह मामले दर्ज हैं। करीब डेढ़ महीना पहले ही वह जेल से निकल कर आया था। जेल से निकलते ही उसने अपने रैकेट के अपराधियों को एकजुट करना शुरू किया और तीन बड़ी घटना को अंजाम देने की तैयारी पूरी कर ली गई थी। उन्होंने बताया कि जेल से निकलने वाले सभी अपराधियों की हम लोग मॉनिटरिंग कर रहे हैं। इसी दौरान पता चला कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अन्य अपराधियों की गतिविधि तो ठीक है। लेकिन रुपेश कुछ प्लानिंग कर रहा है।

सूचना मिलते ही विशेष टीम उसके पीछे पड़ गई तथा सरगना सहित पूरी टीम को गिरफ्तार कर लिया। यह लोग शहर में मार्च महीने में कम से कम दो लोगों की हत्या करने वाले थे, इसकी पूरी प्लानिंग कर ली गई थी। जमीन को लेकर दो हत्या के साथ ही मुंगेरीगंज में एक स्वर्ण आभूषण व्यवसायी के यहां भी बड़ी डकैती डालने की योजना थी। उक्त व्यवसायी ने सीसीटीवी भी नहीं लगाया है, जिसके कारण इन लोगों ने रेकी के बाद पूरी प्लानिंग कर ली और दस किलो से अधिक सोना हाथ लगने की संभावना थी। प्रेसवार्ता के दौरान सदर डीएसपी अमित कुमार भी उपस्थित थे। समय पर त्वरित कार्रवाई से अवैध हथियार, कारतूस एवं गांजा के साथ अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। छापेमारी में शामिल सभी कर्मियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story