डॉ.अनुज प्रभात की कथाकृति नीलपाखी गुजरात में पुरस्कृत

डॉ.अनुज प्रभात की कथाकृति नीलपाखी गुजरात में पुरस्कृत
डॉ.अनुज प्रभात की कथाकृति नीलपाखी गुजरात में पुरस्कृत




अररिया, 04 अप्रैल(हि.स.)। चर्चित कथाकार एवं कवि डॉ.अनुज प्रभात की कथाकृति नील पाखी आजकल चर्चा के केंद्र में है।गुजरात की साहित्यिक पत्रिका नारी अस्मिता त्रैमासिक के तत्वाधान में आयोजित अखिल भारतीय पुरस्कार योजना के तहत देशभर से आई हुई पुस्तकों में श्रेष्ठ कथा पुस्तक के लिए डॉ अनुज प्रभात की कथाकृति नील पाखी को प्रथम पुरस्कार के लिए चयनित किया गया।इसके लिए उन्हें नगद राशि, अंग- वस्त्र एवं सम्मान पत्र प्रदान किया गया।इस सम्मान के साथ उनकी रचनात्मक प्रतिभा एवं हिंदी भाषा के प्रति समर्पित भावना के लिए साहित्यिक मित्रों के द्वारा उन्हें लगातार शुभकामनाएं प्राप्त हो रही है।

उल्लेखनीय है कि 25 दिसम्बर 2023 को वाराणसी की पत्रिका सोच विचार के द्वारा भी बिहार से एक मात्र डॉ अनुज प्रभात को सेवक स्मृति समाज से विभूषित किया गया था। इस सम्मान के लिए तर्पण एवं राइजिंग बिहार के संपादक मंडल के संपादक पंकज,साहित्य संपादक सिद्धेश्वर, सह संपादक ऋचा वर्मा, बिजय कुमार, मंजू सक्सेना, पूनम श्रेयसी ने अपने सह संपादक डॉ.अनुज प्रभात के भविष्य की हार्दिक शुभकामनाएं तो दी।फारबिसगंज के स्थानीय साहित्यकारों एवं बुद्धिजीवियों ने भी हार्दिक शुभकामनाएँ देकर अपनी प्रशंसा का उद्गार व्यक्त किया।

हिन्दुस्थान समाचार/राहुल/चंदा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story