राम कथा में मन लग रहा है, तो यह सत्कर्मों का फल है - कथा वाचिका सुश्री नारायणी

राम कथा में मन लग रहा है, तो यह सत्कर्मों का फल है - कथा वाचिका सुश्री नारायणी


-------श्री राम विवाह महोत्सव व सामुहिक कन्या विवाह उत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित लगुनाहां खाकी बाबा परिसर मे प्रवचन शुरु

बगहा, 23 नवम्बर(हि.स.)।बगहा अनुमंडल अंतर्गत बगहा एक प्रखंड के लगुनाहां - चौतरवा पंचायत के लगुनाहां गांव स्थित श्री खाकी बाबा स्थान परिसर में आयोजित श्री राम विवाह महोत्सव एवं सामुहिक कन्या विवाह उत्सव कार्यक्रम में राम कथा की महानता पर कथावाचिका सुश्री नारायणी ने प्रकाश डाला। कहा की राम कथा सुनने में मन लग रहा है ,तो यह पूर्व जन्म का सत्कर्मो का फल है।

उन्होंने श्रोताओं से कहा कि पूजन पाठ हवन यज्ञ जितने भी सतकर्म हैं उनका फल हैं। श्री राम कथा में मन लगना क्योकि राम कथा मनुष्य को जीवन जीने की कला सिखाती है। कैसे मित्र बनाना चाहिए,कैसे माता पिता की सेवा करना चाहिए।कैसे बड़े बुजुर्गों को सम्मान करना चाहिए।इसलिए प्रत्येक मानव को रामायण की शरण मे आना चाहिए।जो व्यक्ति सत्य और धर्म की मार्ग पर नही चलता,जो व्यक्ति अपने पूर्वजों की संस्कृति और संस्कार और परम्पराओं की रक्षा नही करता। वह व्यक्ति मानव की शरीर पाकर जानवर समान हैं।

भगवान श्री राम की कथा रस ही ज़िंदगी की सिख देता है। प्रभु के नाम से ही मानव समाज समाहित हैं। श्रोता भगवान श्री राम की कथा सुनकर भावविभोर हो गये। खाकी बाबा सेवाश्रम के व्यवस्थापक पूर्व मुखिया सुनील कुमार ने बताया कि 28 नवम्बर को श्री राम विवाह महोत्सव को लेकर भव्य रुप से जुलूस यात्रा निकाली जाएगी। रात्रि में क्षेत्र के गरीब असहाय परिवार की कुमारी कन्याओं की शादी संपन्न कराई जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story