मनुष्य के जीवन में दो राक्षस करते हैं वास - कथावाचिका नारायणी

मनुष्य के जीवन में दो राक्षस करते हैं वास - कथावाचिका नारायणी


-----28 नवंबर को सजेगी भगवान श्री राम व माता जानकी की भव्य यात्रा जुलूस

बगहा,25 नवम्बर(हि.स.)। बगहा अनुमंडल अंतर्गत बगहा एक प्रखंड के लगुनाहां - चौतरवा पंचायत के लगुनाहां गांव स्थित श्री खाकी बाबा स्थान परिसर में आयोजित श्री राम विवाह महोत्सव एवं सामुहिक कन्या विवाह उत्सव कार्यक्रम मे चौथे दिन कथावाचिका नारायणी तिवारी ने सुतीक्षण जी की कथा का वर्णन किया। कहा कि शिष्य से भगवान को मिलाने वाले तो बहुत गुरु हुए लेकिन धन्य है। सुतीक्षण जैसे शिष्य जिसने भगवान को अपने गुरु से मिला दिया। गुरु के हाथ में भगवान का हाथ पकड़ा दिया। अगस्त जी साधारण गुरु भी है जिसनें तीन अंजूली में समुद्र का पान किया, वो है अगस्त जी महाराज।

उन्होंने श्रोताओं से कहा कि प्रत्येक मानव के जीवन में दो राक्षस रहते हैं। श्रोता भगवान श्री राम की कथा सुनकर भावविभोर हो गये। खाकी बाबा सेवाश्रम के व्यवस्थापक पूर्व मुखिया सुनील कुमार ने बताया कि 28 नवम्बर को श्री राम विवाह महोत्सव को लेकर भव्य रुप से जुलूस यात्रा निकाली जायेगी तथा रात्रि में क्षेत्र के गरीब असहाय परिवार की कुमारी कन्याओं की शादी संपन्न करायी जायेगी।

हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story