अपनी चीन नीति को स्पष्ट करे माकपा : कांग्रेस

अपनी चीन नीति को स्पष्ट करे माकपा : कांग्रेसतिरुवनंतपुरम, 15 जनवरी (आईएएनएस)। विपक्ष के नेता और कांग्रेस नेता वी. डी. सतीसन ने शनिवार को माकपा से चीन पर अपनी नीति को स्पष्ट करने को कहा, क्योंकि उसके दो शीर्ष नेता अलग-अलग स्वर में बोल रहे हैं।

दरअसल माकपा पोलित ब्यूरो के वरिष्ठ सदस्य एस. रामचंद्रन पिल्लई और मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने हाल ही में चीन पर अलग-अलग रुख बयां किया था और उनके बयानों में विरोधाभास देखने को मिला था। इसी को मुद्दा बनाते हुए अब कांग्रेस नेता सतीसन ने माकपा से सवाल किया है।

कांग्रेस नेता ने माकपा से पूछा कि आप हमारे राष्ट्रीय हित या चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के हित में अधिक महत्वपूर्ण क्या है, इस पर सफाई दें।

सतीसन ने कहा, मैं जानना चाहता हूं कि क्या यहां सीपीआई-एम चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा नियंत्रित और निर्देशित है।

माकपा के दो शीर्ष नेताओं के कथित परस्पर विरोधी विचार इस सप्ताह की शुरूआत में कोट्टायम और यहां चल रही पार्टी की बैठकों में सामने आए।

https://livevns.news/static/c1e/static/themes/11/84451/3269/images/Website-Banner--3-.jpg

वह पिल्लई ही थे, जिन्होंने कोट्टायम जिला माकपा पार्टी की बैठक में सबसे पहले कहा था कि चीन अमेरिकी साम्राज्यवाद पर सवाल उठाने के कद तक बढ़ गया है और आगे कहा कि वे शक्तिशाली हो गए हैं और उनकी उपलब्धियों को लक्षित करने के लिए वे एक वैश्विक हमले का सामना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अमेरिका चीन पर हमला करने के लिए गठबंधन का नेतृत्व कर रहा है और भारत भी इसका हिस्सा है और सीपीआई-एम भारत में चीन विरोधी अभियान में निशाने के तौर पर ली जा रही है।

विजयन ने दूसरे दिन यहां तिरुवनंतपुरम जिला समिति को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने आलोचना की थी कि एक समाजवादी देश के रूप में चीन साम्राज्यवादी देशों के खिलाफ एक उचित रुख अपनाने को तैयार नहीं है, जबकि चीन पर उनका स्टैंड हमेशा की तरह ही रहता है।

विजयन ने कहा कि चीन ने खुद घोषणा की है कि वे असमानता और भ्रष्टाचार के मुद्दों से परेशान हैं।

सतीसन ने कहा कि चीन लंबे समय से भारत में परेशानी पैदा करने की कोशिश कर रहा है और इस मौके पर यह अजीब और आश्चर्यजनक है कि माकपा चीन की नीतियों की बात कर रही है।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story