गर्मियों में बना रहे हैं लद्दाख घूमने का प्लान? यहां जानें पूरी ट्रैवल गाइड

ladakh

अपने लुभावने सुंदर गोम्पा और शानदार परिदृश्य के साथ लद्दाख एक ऐसी जगह है जहां आने के बाद हर कोई आश्चर्यचकित रह जाएगा। दक्षिण में हिमालय और उत्तर में काराकोरम पहाड़ियों से घिरा लद्दाख निश्चित रूप से आपको अपनी सुंदरता से प्रकृति के करीब ले जाएगा।यदि आप लद्दाख में गर्मियों की छुट्टियां बिताने का प्लान बना रहे हैं तो यहां जानिए इस ट्रिप को कैसे पूरा किया जा सकता है।

ladakh

आप गर्मियों और सर्दियों दोनों वक्त के दौरान लद्दाख जाने का प्लान कर सकते हैं क्योंकि यहां पर दोनों मौसमों का अपना आकर्षक महत्व है। हालांकि, गर्मियों के महीनों को इस स्थान के लिए सबसे अच्छा माना जाता है, यही कारण है कि आपको घूमने के लिए लोकप्रिय जगहों पर भीड़ मिल सकती है। इस समय के दौरान जमी हुई झील पिघलना शुरू हो जाती है, और तापमान इतना सुखद होता है कि ड्राइव करने और आस-पास के जगहों को घूमने का आनंद आता है। अप्रैल से अक्टूबर तक, लद्दाख दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी तरफ लुभाता है।

ladakh

कैसा रहता है तापमान और मौसम

इस दौरान यानी मार्च से जून तक तापमान 20 से 30 डिग्री के आसपास रहता है। मौसम सुहावना और आरामदायक लगता है, जिसमें आप आराम से अपने वेकेशन को एंजॉय कर सकते हैं।

ladakh

गर्मियों में होते हैं कई रंग-बिरंगे फेस्टिवल

गर्मियों में आपको हेमिस फेस्टिवल, युरुकबग्यात और सकादावा जैसे रंग-बिरंगे त्यौहार देखने को मिलेंगे, जो दूर-दूर से आने वाले पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। यदि आप इन त्योहारों को भी देखने की इच्छा रखते हैं तो इनके मुताबिक अपने वेकेशन का प्लान बनाएं।

ladakh

लद्दाख वेकेशन के लिए टिप्स

इस वेकेशन के दौरान सनस्क्रीन लगाकर खुद को सीधी धूप से बचाना न भूलें, क्योंकि इस दौरान का वातावरण सूरज की किरणों के जरिए आपकी स्किन को टैन कर सकता है। यदि आप मौसम की शुरुआत के दौरान इस जगह का दौरा कर रहे हैं, तो आपको अभी भी कुछ गर्म कपड़े पैक करने होंगे क्योंकि रातें थोड़ी ठंडी हो सकती हैं।

ladakh

घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें

लद्दाख आपको रमणीय स्थलों की पूरी सीरीज को अपने में समेटा हुआ है। आप कई मठों का दौरा करने का ऑप्शन भी चुन सकते हैं, जिनमें से सबसे प्रसिद्ध अल्ची, हेमिस और स्पितुक मठ हैं। बाकी जरूरी देखने योग्य जगहों में मैग्नेटिक हिल, शांति स्तूप, गुरुद्वारा पट्टा साहिब, लेह मार्केट और युद्ध संग्रहालय भी है। कारगिल, जिसे लद्दाख का एंट्री गेट के रूप में भी जाना जाता है, यह प्राचीन मठों और घूमने के लिए खूबसूरत जगहों से भरा है। इन जगहों पर आप कारगिल के रास्ते से कश्मीर जाने के दौरान सकते हैं।

ladakh

कौन सा रूट होगा सबसे फिट

यदि आप इस दौरान बाई-रोड लद्दाख जा रहे हैं, तो आप कश्मीर से कारगिल होते हुए जाने पर विचार कर सकते हैं। ये रास्ता जून के शुरुआती महीने से नवंबर के महीने तक खुला रहता है। साथ ही, मनाली-लेह रूट भी एक लंबा रास्ता है जो जून में खुलता है और अक्टूबर की शुरुआत तक खुला रहता है।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story