धरती का स्वर्ग माना जाता है मेघालय, प्राकृतिक सुन्दरता और हरियाली देखकर बीमार भी हो जाते हैं स्वस्थ

b

धरती पर स्वर्ग यानी मेघालय। हरी-भरी घाटियां, जंगलों के बीच से गुजरती जंगली नदियां, पुराने झरने और प्रकृति का अलौकिक दृश्य। दूर तक फैली खूबसूरत चेरी ब्लॉसम के जंगल। घूमने के लिए ज्यादातर लोग ऐसी जगहों का चुनाव करते हैं जो प्राकृतिक सुंदरता से लैस हो। ऐसा ही एक स्थल है मेघालय जो भारत के पूर्वी राज्य में स्थित बेहद खूबसूरत जगह है। मेघालय पर्यटन स्थल अपनी सुंदर पर्वत मालाओं, भारी वर्षा, धूप, उच्च पठारों, लुभावने झरनों, नदियों और घास के आकर्षित मैदानों के लिए जाना जाता है। पर्यटन के लिहाज से मेघालय टूरिस्ट प्लेस का बहुत अधिक महत्व है। इस राज्य में ऐसी कई चीजें हैं जहां एक बार आने के बाद आप यहां बार-बार आना चाहेंगे।

n
शिलांग

मेघालय की राजधानी शिलांग उन जगहों में गिनी जाती है जहां शहरी जीवन के साथ साथ प्राकृतिक सुन्दरता भी नजर आती है। ये जगह समुद्र तल से 1491 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है जिसे पूर्व का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है। पहाड़, झरने, झील और गुफाएं शिलांग की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं। यहां आएं तो शिलांग पीक, उमियम झील, हाथी झरना, स्‍वीट फॉल्‍स सहित अन्‍य टूरिस्‍ट जगहों पर जरूर जाएं।

n
डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज

आपने इंटरनेट या किसी टीवी चैनल पर डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज जरूर देखा होगा। मेघालय के जंगलों में स्थित ये प्राकृतिक रूप से निर्मित ब्रिज तकरीबन 200 साल पुराना है। यह ब्रिज पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय हैं और देश विदेश से लोग इसे देखने और फोटोग्राफी करने यहां आते हैं। यह ब्रिज हरियाली और जंगलों के बीच रहस्‍यों से भरा नजर आता है।

m

जयंतिया हिल्स

मेघालय का टूरिस्ट प्लेस जयंतिया हिल्स राजसी पहाडियों की भूमि है और यह पूर्व जयंतिया साम्राज्य का हिस्सा हैं। यह पर्यटन स्थल समृद्ध प्राकृतिक वनस्पतियों और खनिज संपदा से भरा हुआ हैं। मेघालय में स्थित यह पहाड़ी कई पटकाई पहाड़ियों का अहम हिस्सा हैं। यह पर्वत श्रंखला भारत-म्यांमार कि सीमा में फैली हुई है। हालाकि कि खांसी और गारों पहाड़ियों कि अपेक्षा जयंतिया हिल्स छोटी पहाड़ी हैं।

n
मासावडोंग जलप्रपात

डेंगदोह वाटरफॉल्स के रूप में भी फेमस मावसावडोंग वाटरफॉल मेघालय की कम फेमस लेकिन खूबसूरत जगहों में आता है। सोहरा जिले के बाहरी इलाके में मावकामा गांव में स्थित यह झरना दिखने में बेहद शानदार लगता है और सबसे अच्छी बात तो ये है यहां पर्यटकों की भीड़ भी कम रहती है। शांत जगह पर जाना है, तो एक बार यहां जा सकते हैं।

n
हाथी झरना

ऊंचे पठार से दूध की धारा सा नीचे गिरता झरना हाथी झरना यानी एलीफेंट फॉल्‍स के नाम से जाना जाता है। मेघालय स्थित यह एक प्रमुख झरना है इसका नाम हाथी के आकार की होने की वजह से दिया गया था। हालांकि साल 1897 के दौरान आए भूकंप की वजह से ये क्षतिग्रस्त हो गया। लेकिन आज भी ये झरना पर्यटकों के बीच काफी पॉपुलर है।

n
दावकी झील

दावकी झील मेघालय के पश्चिम जिले में स्थित एक जयंतिया हिल्स है। दावकी भारत और बांग्लादेश की सीमा पर स्थित है। इसी कारण से दावकी झील भारत और बांग्लादेश के बीच व्यापार करने का एक प्रमुख केंद्र बना हुआ है। दावकी झील मेघालय में घूमने लायक बेहतरीन जगहों में से एक है। बसंत महीने के दौरान दावकी पर्यटन स्थल के रूप में बेहद हि सुंदर प्रतीत होता है। दावकी झील पर नाव की सवारी की प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाता है। इस जगह की खूबसूरती, हरियाली, नदी, ठंडे पानी, ब्रिज, इत्यादि चीजें पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पर्याप्त होता है।

m
चेरापूंजी

मेघालय की प्रचलित जगहों में चेरापूंजी भी है। कभी यहाँ पर भारत की सबसे ज्यादा बारिश होती थी, लेकिन वर्तमान में ऐसा नहीं है। ये जगह भी घूमने के लिए एक खूबसूरत और अद्भुत पर्यटन स्थल माना जाता है। यहां आपको कई ऐसी खूबसूरत जगहें मिल जाएंगी जिसे देखकर किसी का भी मन झूमने लगता है। यहां की जलवायु और सुंदरता वाकई सैलानियों को बार बार आने के लिए आकर्षित करती है।

m
मौसिनराम

प्रकृति प्रेमियों के लिए मौसिनराम स्‍वर्ग से कम नहीं है। अगर आप मेघालय में बारिश का लुफ्त उठाना चाहते हैं तो आप मौसिनराम जरूर जाएं। मौसिनराम भारत का नहीं, बल्कि पूरे विश्व का सबसे अधिक मात्रा में बारिश होने वाले स्थान के रूप में जाना जाता है। यहां की हरी भरी प्रकृति देखते ही बनती है। हर मौसम में ये जगह कमाल की दिखती है।

m

वेई सवाडोंग झरना

मेघालय में कई अविश्वसनीय झरने हैं, लेकिन यहां वेई सवाडोंग कम प्रसिद्ध लेकिन खूबसूरत तीन स्तर वाला झरना है, जो मेघालय की राजधानी शिलांग से लगभग 60 किमी दूर स्थित है। ये ट्रेकर्स के लिए भी परफेक्ट जगह है। हालांकि यहां की चढ़ाई थोड़ी थका देती है, लेकिन एक बार ऊपर पहुंचने के बाद और झरनों के शानदार नजारों को देखने के बाद, आपकी यकीनन सारी थकान दूर हो जाएगी।

m
तूरा शहर

वेस्ट गारो हिल्स में स्थित तूरा मेघालय का एक काफी खूबसूरत और बड़ा शहर है। यहां पर मौजूद नोकेरेक नेशनल पार्क पर्यटकों के बीच बहुत लोकप्रिय है जिसको देखने काफी संख्या में पर्यटक आते हैं, यह पार्क तूरा शहर से लगभग 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसके अलावा भी आप को तूरा शहर में कई पर्यटन स्थल देखने को मिल जाएंगे।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story