कश्मीर में खुला दुनिया का सबसे बड़ा और खूबसूरत इग्लू कैफे, एक बार आप भी इसका लुत्फ उठाने जरुर जाएं

 m

कश्मीर को धरती का स्वर्ग (Heaven) कहा जाता है। यहां की खूबसूरत वादियां, ऊंची−ऊंची पहाडि़यां, झीले और खूबसूरत जंगल किसी का भी मन मोह लेते हैं। वहीं चिनार के पेड़ों और बर्फ (Ice) से ढके पहाड़ों के बीच, जम्मू और कश्मीर का गुलमर्ग भी सैलानियों (Tourist) के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। इसके साथ ही आपको जानकर खुशी होगी कि पिछले साल की तरह इस बार फिर से यहां पर इग्लू कैफे खुल गया है। कैफे के मालिक के अनुसार यह दुनिया का सबसे बड़ा इग्लू कैफे होने का दावा है। अगर आप भी कश्मीर घूमने का ट्रिप प्लान कर रहे तो एक बार इस इग्लू कैफे का आनंद जरूर ले, तो आइए जानते हैं इस कैफे के बारे में...

दुनिया का सबसे बड़ा व ऊंचा इग्लू कैफे

कैफे के मालिक का दावा है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा व ऊंचा कैफे है। उनके अनुसार पिछले साल से इस कैफे की ऊंचाई बढ़ा दी गई है। इस कैफे की ऊंचाई 37.5 फीट और व्यास 44.5 फीट है। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक दुनिया का सबसे बड़ा इग्लू कैफे स्विटजरलैंड में स्थित है। उसकी ऊंचाई 33.8 फीट और व्यास 42.4 फीट है। मगर उनके द्वारा गुलमर्ग में बनाया इग्लू कैफे उससे भी बड़ा है। पिछल साल इस कैफे में 4 टेबल थीं और एक बार में 16 लोग खाना खा सकते थे। मगर इस साल टेबलों की संख्या बढ़ाकर 10 कर दी है।

b

स्विट्जरलैंड से मिली प्रेरणा से बनाया इग्लू कैफे

इग्लू के निर्माता के अनुसार इग्लू कैफे को विश्व का सबसे बड़ा कैफे होने का दावा किया जा रहा है। उनका कहना है कि इस कैफे को बनाने की प्रेरणा उन्हें स्विट्जरलैंड से मिली। दरअसल कैफे के मालिक ने स्विटजरलैंड में इस तरह के होटल देखे थे। बता दें, उन होटलों में खाने-पीने से लेकर सोने तक की व्यवस्था है। ऐसे में उससे प्रेरणा लेकर उन्होंने भी सोचा कि गुलमर्ग में भी भारी मात्रा में बर्फ पड़ती हैं। ऐसे में यहां पर  इग्लू कैफे बनाया जा सकता है। बता दें, इस अनोखे व खूबसूरत कैफे को बनाने की शुरुआत उन्होंने पिछले साल की थी और उन्होंने इस कैफे को एशिया का सबसे बड़ा इग्लू कैफे होने का दावा भी किया था।


लोगों के आकर्षण का मुख्य केंद्र

बर्फ से तैयार इग्लू कैफे स्थानीय लोगों और सैलानियों के लिए आकर्षण का मुख्य केंद्र है। टूरिस्ट यहां के आसपास की खूबसूरती का दीदार करने के साथ  दुनिया के सबसे बड़े इग्लू कैफे में बैठकर अपनी थकान दूर करते हैं। इसके साथ ही फोटो क्लिक करवाने का मजा लेते हैं। ऐसे में आप इस शानदार कैफे को देखने व फोटो क्लिक करवाने का मजा जरूर लें।

b

कैफे की खासियत

इस कैफे को दो चरणों में एक सीढ़ी के साथ बनाया गया है। कैफे में 10 टेबल होने से अब यहां एक बार में 40 लोग एक साथ बैठकर खाना खा सकते हैं। इसके अंदर कुर्सी, टेबल आदि सामान भी बर्फ से तैयार किया गया है, जो इसकी खूबसूरती पर चारृ-चांद लगाने का काम करते हैं।  इसे 25 लोगों ने दिन-रात काम करके करीब 64 दिनों में तैयार किया। इस इग्लू कैफे की मोटाई 5 फीट है। इस कैफे के मालिक को उम्मीद है कि यह 15 मार्च तक यूं ही खड़ा रहेगा। फिर गर्मियां आने पर इस कैफे को आमजन के लिए बंद कर दिया जाएगा।


 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story