प्राकृतिक सौंदर्य और खूबसूरती के खजानों से भरा हुआ है पहलगाम, जानिए यहां के बेस्ट फेमस टूरिस्ट प्लेस के बारे में

/

जम्मू और कश्मीर को धरती का स्वर्ग माना जाता है। यह हमेशा से ही पर्यटकों का प्रिय स्थल रहा है। अनगिनत पर्यटक यहां घूमने जाते हैं, इसके पर्यटन स्थल दुनियाभर के लोगों को आकर्षित कर रहे हैं। इसके तीन क्षेत्रों- जम्मू, लद्दाख और कश्मीर के हजारों पर्यटन स्थल आज भी अपनी शोभा को बरकरार रखे हुए हैं। जम्मू-कश्मीर उत्तर भारत का एक ऐसा राज्य है, जहां पर्यटन की संभावनाएं बहुत ही प्रबल हैं। यहां के प्रमुख टूरिस्ट प्लेस में से एक पहलगाम। अगर आप कश्मीर गए और पहलगाम की खूबसूरती का लुत्फ नहीं उठाया तो आपने क्या ही घूमा। इसका भव्य प्राकृतिक सौंदर्य हर किसी को अपनी तरफ खींचने का काम करता है.जो भी पर्यटक पहलगाम घूमने के लिए आता है वो इसकी खूबसूरती को देखकर हैरान रह जाता है। आइए आज हम आपको यहां के घूनमे के बेस्ट प्लेस के बारें बताएंगे।

तुलियन झील

तुलियन झील की खूबसूरती को शब्दों में कभी बयां नहीं किया जा सकता है. ये झील बर्फ से ढंकी हुई है। सफेद बर्फ के चादर से ढकी ये झील आपको दीवाना कर देगी। आप अगर सुकून के पल चाहते हैं तो यहां का रूख जरूर करिए। ये पहलगाम से इस झील की दूरी तकरीबन 15 किलोमीटर पर है।

स

बेताब घाटी

प्राकृतिक खूबसूरती से भरा हुए बेताब घाटी का अपना ही खास नजारा है. इस घाटी के मनमोहक दृश्यों में खो जाने हर साल अनेकों सैलानी आते हैं. इस घाटी पर देवदार और पाइन के पेड़, बर्फ से ढके हुए पहाड़ और खूबसूरत नदियां हैं। बेताब घाटी पहलगाम से करीह दूरी 15 किलोमीटर की दूरी पर है।
य

अरु वैली

बर्फ के पहाड़ों के साथ अपनी हरी भरी खूबसूरती को अरु वैली पेश करती है. अगर आप पहलगाम जा रहे हैं तोत अरु घाटी की खूबसूरती को निहारना ना भूलें. घने जंगलों से घिरा हुआ अरु घाटी ट्रेंकिग और घुड़सवारी के लिए बेस्ट माना जाता है।

.

ममलेश्वेर मंदिर

अगर आप पहलगाम जाने का प्लान कर रहे हैं तो ममलेश्वेर मंदिर जाना एक दम ने ना भूलें. क्योंकि ये पहलगाम के प्राचीन मंदिरों में से एक है. माना जाता है कि इस मंदिर का संबंध 12वीं शताब्दी से है. प्राकृतिक खूबसूरती के बीच बसा ये मंदिर ममल गांव में स्थित है. ये मंदिर पहलगाम से दूरी तकरीबन 1 किलोमीटर है। खास बात ये है कि मंदिर भगवान शिव को समर्पित है।

/

शेषनाग झील

शेषनाग झील पहलगाम की खूबसूरत को पेश करती है. यहां की खास झीलों में से शेषनीग झील एक है. आपको बता दें कि इस झील का पानी नीले-हरे रंग का है, जो पर्यटकों को मोहित करता है. पहलगाम से इस झील की दूरी तकरीबन 32 किलोमीटर है।

.

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story