कैर का अचार होता है बहुत शानदार, पोषक तत्वों से है भरपूर, बढ़ा देता है खाने का स्वाद

m

अचार चाहे जिस चीज का हो वह खाने का स्वाद बढ़ा देता है। यहां तक कि किसी दिन आपकी पसंद की सब्जी नहीं बनी हो तो यह अचार उसकी भरपाई कर देता है। अचार का साथ होने पर खाना आसानी से खाया जा सकता है। आपने कच्ची कैरी, नींबू और मिर्च का अचार तो खूब चखा होगा, लेकिन आज आपको बताने जा रहे हैं लीक से हटकर कैर (टेंटी) के अचार की रेसिपी के बारे में। यह बहुत लजीज होता है और इसे सरसों के तेल व ढेर सारे मसालों के साथ धूप में सुखाकर बनाया जाता है। कैर ज्यादातर राजस्थान और यूपी में पाया जाने वाला फल है। इस अचार की तासीर ठंडी होती है और यह खून को साफ करता है। यह हाजमे का भी दोस्त है। कैर में कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए और कार्बोहाइड्रेट्स प्रचुर मात्रा में होता है।

m

सामग्री 
कैर (टेंटी) - 250 ग्राम
राई - 2 बड़े चम्मच
हींग - 2-3 चुटकी
लाल मिर्च - 1/4 चम्मच
सरसों का तेल - 1/2 कप
सिरका - 1 बड़ा चम्ममच
हल्दी पाउडर - 1 छोटा चम्मच
नमक - स्वादानुसार

m
विधि 
सबसे पहले कैर के डंठल तोड़कर इसे साफ पानी से अच्छी तरह से धो लें। फिर इसे एक बर्तन में डालकर इतना पानी भरें कि कैर पूरी तरह से उसमें डूब जाए। अब इस बर्तन को ढककर धूप में रख दें और हर 2 दिन के बाद पानी को बदलते रहें। आपको 5 दिन में कैर के रंग में बदलाव महसूस होने लगेगा। इसका हरा रंग पीले रंग में बदल जाएगा। फिर इसके पानी को छानकर धूप में रख दें। इसे धूप में तब तक रखें जब तक इसका पानी अच्छी तरह से सूख न जाए। जब पानी पूरी तरह से सूख जाए तो अचार बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन लेकर उसमें सरसों के तेल को जलाने के लिए गरम करें। फिर तेल को गैस से उतारकर नीचे रखकर ठंडा कर लें। अब हल्केे गरम तेल में हल्दी पाउडर, हींग, कैर, नमक और लाल मिर्च डालकर मिला लें। अब अचार में सिरका डालकर इसे अच्छी तरह से मिक्स करें। आपका कैर का अचार तैयार है। इसे ठंडा होने के बाद कांच के कंटेनर में भरकर रख दें। रोजाना इसे हिलाते रहें। 8-10 दिनों में ही आपका अचार खट्टा होकर खाने के लिए तैयार हो जाएगा।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story