विटामिन ए की कमी से आंखों पर होता है गहरा आघात, इन भयंकर बीमारियों के मकड़जाल में फंस जाएंगे आप

n

हमारे शरीर विटामिन और प्रोटीन से मिलकर बना है। अगर किसी भी विटामिन की कमी आपके शरीर में हुई तो इसक सीधा प्रभाव आपकी सेहत पर पड़ता है। इन विटामिनों में से विटामिन ए काफी महत्वपूर्ण मन गया है। विटामिन ए की कमी से भी आपको कई बीमारियां हो सकती हैं। कई लोगों को विटामिन ए की कमी के कारण कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के साथ आंखों, स्किन, बालों को हेल्दी रखने में मदद करता है। शरीर में इसकी पूर्ति के लिए आपको बस अपने खानपान का ठीक से ध्यान रखना है। शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट विटामिन ए फ्री रेडिकल्स के हानिकारक प्रभाव से बचाने में मदद करता है। यह शरीर के विकास के लिए बहुत ही जरूरी विटामिन माना जाता हैं। यह संक्रमण से लड़ने के साथ-साथ हड्डियों, दांत, स्किन, ऊतकों आदि को हेल्दी रखने में मदद करती हैं।

n

विटामिन ए की कमी के लक्षण
स्किन रुखी होना 
दांतों का कमजोर होना
ठीक से नींद न आना
रतौंधी की समस्या होना
गले में संक्रमण हो जाना
हड्डियों का कमजोर हो जाना

n

विटामिन ए की कमी से बीमारियां

अगर आपको स्किन से जुड़ी परेशानी हो रही है। यानी की अगर आपकी स्किन डल और बेजान हो गई है। लाख जतन के बावजूद भी आपकी स्किन पर कोई निखार नहीं आ रहा है। तो हो सकता है आपके शरीर में विटामिन ए की कमी हो गई हो।

 विटामिन ए की कमी से आँखें कमजोर होने लगती हैं। अगर शरीर में इसकी ज़्यादा कमी हो जाये तो आपको रतौंधी भी हो सकता है।

एक सर्वे के मुताबिक विटामिन ए की कमी से आपको टीबी की बीमारी भी हो सकती है। विमामिन ए की खुराक टीबी को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। टीबी दुनिया भर में मौत के एक प्रमुख कारणों में से है। 

अगर शरीर में विटामिन ए की कमी ज़्यादा हो जाए तो आपकी हड्डियां भी कमजोर हो सकती हैं। यहाँ तक की इससे प्रभाव का असर आपकी हाइट पवार भी पड़ता है।

n

विटामिन ए से बॉडी को मिलते हैं ये लाभ

आंखों की रोशनी तेज करें
दिल को रखे हेल्दी
अस्थमा के मरीजों के लिए फायदेमंद
इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये 
इन फूड्स से विटामिन ए की कमी को करें पूरा

अगर आपकी बॉडी में भी विटामिन ए की कमी हो गई है तो आप अपने डाइट में बदलाव करें। विटामिन ए की कमी को पूरा करने के लिए आप अपनी डाइट में शलजम, टमाटर, मटर, ब्रोकली, कद्दू, चुकंदर, गाजर, हरी पत्तेदार सब्जियां, गिरिकंद, साबुत अनाज, सोयाबीन, पालकर, दूध,  राजमा, बींस, पनीर, सरसों, चीके, तरबूत, पपीता, आम आदि का सेवन कर सकते हैं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story