सर्वाइकल के कारण शरीर के इन अंगो में उठता है तेज दर्द, जानें इस बीमारी के लक्षण और उपाय

s

आजकल लोगों का सबसे ज्यादा समय मोबाइल और लैपटॉप पर बीतता है। ऑफिस में लोग 9 से 10 घंटे तक लगातार कुर्सी पर बैठकर लैपटॉप पर काम करते हैं और घर आने के बाद भी खराब पोस्चर में मोबाइल पर समय बर्बाद करते हैं। इस कारण से 10 में से करीब 5 से 6 लोग गर्दन में अकड़न, दर्द और सर्वाइकल से जूझ रहे हैं। कई लोगों को तो महीनों तक पता ही चल पाता है कि उन्हें सर्वाइकल की दिक्कत है। ये समस्या बच्चों में भी देखने को मिल रही है, जिसका समय रहते इलाज नहीं हुआ तो ज्यादा दिक्कतें हो सकती हैं। आइए जानते हैं सर्वाइकल के दर्द के बारे में सब कुछ।

s
क्यों होता है सर्वाइकल का दर्द?
सर्वाइकल का दर्द ज्यादातर गलत पोजीशन में सोने या बैठने के कारण होता है, इसके अलावा भारी वजन सिर पर उठाने से और एक ही पोजीशन में लंबे समय तक बैठे रहने से भी सर्वाइकल का दर्द हो सकता है। सर्वाइकल का दर्द बढ़ती उम्र के साथ बढ़ सकता है, जिसके अलग कई कारण भी हो सकते हैं। 

s

सर्वाइकल में कहाँ कहाँ दर्द होता है?
सर्वाइकल का दर्द गर्दन के ऊपरी हिस्से से शरू होकर पीठ पर नीचे तक हो सकता है। इसके अलावा अकड़न की दिक्कत भी हो सकती है। अगर आपको लैपटॉप पर काम करते हुए गर्दन घुमाने में भी दिक्कत होती है तो ये भी सर्वाइकल का ही एक लक्षण है। 

s

सर्वाइकल का उपचार
ऑफिस में काम करते हुए लंबे समय तक एक ही पोजीशन में बैठने से बचें।
सर्वाइकल की समस्या से जूझ रहे लोगों को काम करते हुए कुछ समय का ब्रेक लेकर टहलना चाहिए।
सर्वाइकल के दर्द में राहत के लिए बर्फ से सिकाई या फिर गर्म से सिकाई करनी चाहिए।
गर्दन से जुड़ी एक्सरसाइज और योगा आसन करने से आराम मिलता है। ज्यादा दर्द की समस्या पर आप डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।
फिजिकल थेरेपी लेने से दर्द में आराम मिल सकता है।


 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story