गले की खराश के साथ ही कई फायदे पहुंचाती हैं मुलेठी, जानें कैसे करें इसका सेवन 

m

 हर उम्र के लोगों को गले में सूजन व खांसी-जुकाम की समस्या परेशान कर रही है। ऐसे में राहत पाने के लिए आप मुलेठी का सेवन कर सकते हैं। मुलेठी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण गले की खराश दूर करने के साथ ही कई बीमारियों में राहत दिलाते हैं। आयुर्वेद और चीनी चिकित्सीय पद्धति भी मुलेठी को स्वास्थ्यवर्धक मानते हैं। मुलेठी का सीमित मात्रा में उपयोग ही फायदेमंद होता है। आज इस कड़ी में हम आपको मुलेठी से मिलने वाले फायदों के बारे में बताने का साथ ही कैसे इसका इस्तेमाल किया जाए उसकी जानकारी देने जा रहे हैं। आइये जानें इसके बारे में...

m
मुंह के छालों से दिलाए राहत

कई लोगों को मुंह में छालों की समस्या अक्सर देखी जाती है। मुंह के छालों को दूर करने के लिए आप मुलेठी के एक टुकड़े में शहद लगाकर चूस सकते हैं। इससे छालों में राहत मिल सकती है।

m
सीने में जलन या अपच

मुलेठी का रस अपच या एसिड रिफ्लक्स के कारण होने वाली सीने में जलन से राहत दिला सकता है। ऐसा कई शोध दावा करते हैं। हालांकि, इसको लेकर और शोध होने की जरूरत है।

m

डायबिटीज में फायदेमंद

चूहों पर की गई एक स्टडी के मुताबिक, मुलेठी का रस ब्लड शुगर को सुधारने और किडनी को स्वस्थ बनाने में मददगार साबित हो सकता है। हालांकि, इंसानों पर इससे जुड़े शोध होने अभी बाकी हैं।

m

हिचकियों से दिलाए राहत

हिचकीयां आने से परेशान हैं तो धबराएं नहीं, हिचकीयों को दूर करने के लिए आप मुलेठी के टुकड़े को मुंह में रख सकते हैं या आप इसे शहद के साथ मुंह में रख चूस सकते हैं। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व हिचकीयों को दूर करने में मदद कर सकते हैं।

m
पेट के लिए बेहतर

गलत खान-पान के चलते कब्ज एसिडिटी और पेट संबंधी समस्याएं परेशान करती हैं। कब्ज से राहत पाने के लिए आप मुलेठी की चाय का सेवन कर सकते हैं। मुलेठी में मौजूद ग्लिसराइजिक एसिड गैस्टिक और अल्सर जैसी समस्याओं से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

m
मिटे खांसी या गले की खराश

मुलेठी में मौजूद एंटीबैक्टीरियल व एंटी-इंफ्लामेटरी गुण खांसी या गले की खराश से राहत देने में भी मददगार देखे गए हैं। इसके लिए आप मुलेठी और अदरक का रस मिलाकर चाय बनाएं और उसका सेवन करें।

m

स्किन कंडीशन में फायदेमंद

मुलेठी में 300 कंपाउंड होते हैं, जिसमें से कुछ कंपाउंड में एंटीइंफ्लामेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं। जिस कारण मुलेठी की जड़ का रस एक्जिमा, मुंहासे जैसी स्किन कंडीशन में फायदेमंद साबित हो सकता है।

कैसे करें मुलेठी का सेवन

m

मुलेठी का पानी

घरेलू उपाय के रूप में मुलेठी को इस्तेमाल करने का सबसे आसान तरीका इसका पानी बनाना है। गले का इंफेक्शन, गले में दर्द या सूजन से बचने के लिए रोज मुलेठी का पानी पिएं। इसे बनाने के लिए आप 1 गिलास गुनगुने पानी में 1 चम्मच मुलेठी पाउडर मिला लें और सेवन करें।

m
मुलेठी की चाय

मुलेठी की चाय को गले के दर्द का कारगर घरेलू उपाय बताते हैं। इसे बनाने के लिए 1 कप उबलते पानी में एक छोटी मुलेठी की जड़ डालें और कद्दूकस किया हुआ अदरक डालकर धीमी आंच पर कुछ मिनट पकने दें। इस मिक्सचर को छान लें और इसमें टी बैग डालकर पिएं।

m

मुलेठी की जड़ चबाना

मुलेठी खाने का सही तरीका क्या है? सर्दी में खांसी मिटाने के लिए मुलेठी की जड़ जबरदस्त घरेलू उपाय है। इसके लिए आप मुलेठी की जड़ कच्ची चबा सकते हैं। मुलेठी की जड़ चबाने से खांसी व गले के दर्द से तुरंत आराम मिलता है।

m
मुलेठी का काढ़ा

सर्दी की बीमारियों से बचने के लिए आप मुलेठी का काढ़ा भी पी सकते हैं। यह एक बेहतरीन आयुर्वेदिक उपाय है, जिसका सेवन करने से फेफड़ों के रोग, खांसी, गले का इंफेक्शन, कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याएं खत्म हो जाती हैं। काढ़ा बनाने के लिए आप एक चौथाई चम्मच मुलेठी पाउडर, एक चुटकी दालचीनी पाउडर, एक चुटकी काली मिर्च पाउडर और तुलसी की कुछ पत्तियां लेकर 1 गिलास पानी में उबालें। मिक्सचर आधा होने पर छान लें और एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार पिएं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story