Less Sleep Diseases: कम सोने से बढ़ सकता है, कैंसर के साथ इन बीमारियों का खतरा

m

क्या आप भी रात को देरी से सोते हैं तो आज ही आपको अपनी इस आदत को बदलने की जरूरत है। इससे कई तरह की बीमारियां हमारे शरीर को घेर लेती है। रात में 5 घंटे से कम सोने वाले लोगों को डायबिटीज, कई प्रकार के कैंसर, दिल की बीमारी, हार्ट स्ट्रोक, हार्ट फेलियर, फेफड़ों से जुड़ी बीमारी, किडनी, लिवर, डिप्रेशन, भूलने की बीमारी, पार्किंसंस डिसीज, अर्थराइटिस और कई मानसिक बीमारियां होने का खतरा रहता है। अगर आप रात में 5 घंटे से कम सोते हैं या 9 घंटे से ज्यादा सोते हैं, तो इसका बुरा असर आपकी दिल की सेहत पर पड़ता है। कम नींद स्तन कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना बढ़ा देती है। हर व्यक्ति को कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। अगर आपकी नींद 6 घंटे से कम है, तो सेहत से जुड़ी कई तरह की समस्याएं आपको घेर सकती हैं। आज हम उन बीमारियों और उनके कारणों के बारे में जानेंगे कि आखिर कम नींद लेने से यह हमें क्यों नुकसान पहुंचाती है।

 m
कम सोने से कैंसर का खतरा
पर्याप्त नींद न लेना भी कैंसर का कारण हो सकता है। नींद में कमी की वजह से कोलन, ओवरी, ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा काफी बढ़ सकता है। वहीं छह घंटे से कम की नींद बॉवेल कैंसर के जोखिम को 50 प्रतिशत तक बढ़ाती है। खाना खाने के बाद बेड पर सोने जाने के बीच अगर दो घंटे का गैप नहीं रखते हैं, तो ऐसे लोगों में कैंसर का खतरा बाकियों की तुलना में 25 प्रतिशत तक ज्यादा होता है। दरअसल, बॉडी के बायोलॉजिकल क्लॉक में सोने और उठने का समय तय होता है। यह दिन के 24 घंटे के हिसाब से होता है। इस खतरनाक बीमारी से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में नींद लेना बहुत जरूरी है।

m

कम सोने से वजन बढ़ने की समस्या
कम नींद की वजह से कार्टिसोल हार्मोन बढ़ता है जो स्ट्रेस को बढ़ाता है। स्ट्रेस हार्मोंस भी ओवरइटिंग को बढ़ावा देते हैं। अगर आप ठीक से नींद नहीं लेते तो इससे दिमाग में हेल्दी खाने की समझ पर असर पड़ता है। जिसकी वजह से अनहेल्दी स्नैकिंग होती है और वजन बढ़ता है। एक स्टडी के मुताबिक 8-9 घंटे से ज्यादा सोने वाला लोगों को मोटापे का खतरा 25% ज्यादा होता है।

m

कम सोने से डायबिटीज की प्रॉब्लम
ब्लड शुगर लेवल बढ़ने के लिए जहां अनहेल्दी फूड हैबिट्स जिम्मेदार होती हैं वहीं, नींद की कमी से डायबिटीज की समस्या बढ़ सकती है। अगर आप रोजाना अच्छी नींद ले रहे हैं तो ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है और डायबिटीज का खतरा कम होता है। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक डायबिटीज के मरीजों को 6-8 घंटे की नींद लेना जरूरी है।


 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story