Health Tips : रात को सोते समय सिर के नीचे नहीं लगाना चाहिए तकिया, होते हैं यह नुकसान

n

रात में सोते समय लोगों को चाहिए एक आरामदायक बिस्तर और एक नर्म-मुलायम-सा तकिया जिसमें सिर धंसाकर गहरी नींद सो सकें। कुछ लोग सिरहाने तकिया लगना पसंद करते हैं और कुछ लोग नहीं। तो वहीं, कई लोगों को 2 या 3 तकिए की ज़रूरत पड़ती है। नर्म-नर्म रूई से भरे तकिया पर सोना भले ही आपको अधिक आरामदायक महसूस होता हो लेकिन, क्या आप जानते हैं कि तकिए पर सोने से आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। तकिया कई बीमारियों की वजह बनता है। सुनने में थोड़ा अजीब जरूर लगता है, लेकिन यह सच है कि तकिया लगाकर सोने से हम कई बीमारियों को बढ़ावा देते हैं। आज हम अपने पाठकों को कुछ ऐसी समस्याओं या बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो तकिया लगाकर सोने के कारण होती हैं। 

n

बढ़ जाती है गर्दन की अकड़न

तकिया बहुत ऊंचा हो या सख्त तकिया इस्तेमाल करने से कंधों और गर्दन की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है जिससे गर्दन में दर्द और अकड़न की समस्या हो सकती हैं। गर्दन के मसल्स खिंच सकते हैं और सिर के पिछले हिस्से, पीठ और गर्दन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

n

स्पाइन से जुड़ी समस्याएं

ऊंचा तकिया लगाकर सोने से एक बड़ा नुकसान रीढ़ की हड्डी से जुड़ी समस्याएं भी हैं। तकिया लगाने से सोते समय शरीर का पॉस्चर बिगड़ जाता है और रीढ़ की हड्डी को क्षति पहुंच सकती है। इससे स्पाइन या रीढ़ की हड्डी का आकार बिगड़ सकता है और कई प्रकार की हेल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं ।

b

जल्द आ सकता है बुढ़ापा

जो लोग अपना चेहरा तकिए में धंसाकर सोते हैं उनके चेहरे की त्वचा पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। दरअसल, तकिए के सम्पर्क में आने से चेहरे की त्वचा खिंचती है और उसपर प्रेशर पर भी पड़ता है। इससे चेहरे की त्वचा पर झुर्रियां, फाइन लाइंस जल्दी दिख सकती हैं जो कि बुढ़ापे की निशानियां मानी जाती हैं। इसी तरह स्किन इंफेक्शन्स का खतरा भी बढ़ता है।

b

होती हैं त्वचा सम्बन्धी समस्या

तकिये की खोल को रोज नहीं धोया जाता है, जिसके कारण इसके ऊपर गंदगी, तेल, धूल और कहीं आपके बालों में डैंड्रफ है तो वह भी झड़ कर लग जाता है। तेल लगने के कारण धूल और डैंड्रफ खोल से हटते नहीं हैं। यह सब आपके चेहरे की त्वचा के सम्पर्क में आते हैं, जिससे त्वचा सम्बन्धी समस्याएँ होने लगती हैं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story