कान के दर्द को दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे

B

कान का दर्द तब होता है जब कान में यूस्टेशियन ट्यूब तरल पदार्थ से भर जाती है, जिससे रुकावट होती है और कान के पर्दे के पीछे दबाव बनता है। यह दर्द आमतौर पर सुस्त और तीव्र संवेदनाओं का मिश्रण होता है, जो झुंझलाहट और परेशानी पैदा करता है। आइए आज हम आपको कुछ ऐसे प्राकृतिक और घरेलू नुस्खे बताते हैं, जिन्हें आजमाकर कान के दर्द से राहत मिल सकती है।

B

लहसुन का करें उपयोग
एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर लहसुन शरीर से विभिन्न बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करके दर्द और सूजन से राहत देता है। लाभ के लिए लहसुन की कलियों को पीसकर नारियल के तेल में मिलाएं। अब कान के दर्द को दूर करने के लिए इस मिश्रण को अपने कानों के आसपास लगाएं। ध्यान रहे कि इसे कानों के अंदर न डालें। दर्द को कम करने के लिए रोजाना एक लहसुन की कली भी खा सकते हैं।

B

अजवाइन भी है प्रभावी
आयुर्वेद में अजवाइन को यवनी के रूप में भी जाना जाता है और यह कान के संक्रमण समेत इससे जुड़े दर्द का इलाज करने में मदद कर सकती है।इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो दांत दर्द और पेट दर्द को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। लाभ के लिए तिल के तेल में कुछ लहसुन की कलियां और अजवाइन डालकर मिश्रण को लाल होने तक उबालें। अब तेल को छानकर इसे कान के चारों ओर लगाएं।

B

सेब का सिरका आएगा काम
अध्ययनों के अनुसार, सेब का सिरका कान के pH स्तर को संतुलित करता है, जिससे दर्द पैदा करने वाले बैक्टीरिया, कवक और वायरस दूर होते हैं। इसमें एसिटिक एसिड होता है, जो बैक्टीरिया को मारने और कान के दर्द को रोकने में मदद करता है। लाभ के लिए सेब के सिरके को गर्म पानी में घोलें, फिर इस मिश्रण में एक रुई भिगोएं और दर्द को दूर करने के लिए इसे कान के चारों ओर लगाएं।

B

तुलसी के पत्ते के जूस से मिलेगा आराम
आयुर्वेद में 'जीवन के लिए अमृत' के रूप में जाना जाने वाला तुलसी के पत्तों का जूस एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल और चिकित्सीय गुणों के कारण कई स्थितियों के इलाज में मदद कर सकता है।इसका उपयोग कान दर्द और संक्रमण को ठीक करने के लिए किया जा सकता है।लाभ के लिए तुलसी के पत्तों को पीसकर इसका जूस निकालें। अब जूस में नारियल का तेल मिलाएं। दर्द को कम करने के लिए मिश्रण को कान में इयर ड्रॉप से डालें।

N

अदरक दिलाएगा राहत
अदरक के एंटी-बायोटिक, दर्द निवारक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण इसे हल्के कान दर्द के इलाज के लिए एक प्रभावी घरेलू उपचार बनाते हैं।लाभ के लिए ताजे अदरक को कुचलकर उसका जूस निकालें। अब गर्म जैतून के तेल में अदरक का जूस मिलाएं। दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए इस मिश्रण को कान के आसपास लगाएं। किसी भी नुकसान से बचने के लिए इसे सीधे कान में न डालें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story