नाभि के संक्रमण से होने वाली खुजली से बचाव के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे 

m

नाभि शरीर के नाजुक अंगों में से एक होती है और इसकी देखभाल करना भी बहुत जरूरी है। अगर नाभि की सफाई न की जाए तो धूल, गंदगी, बैक्टीरिया के कारण इसमें संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके कारण नाभि के आसपास लगातार खुजली होती है, साथ ही दर्द और दाने की समस्या भी हो सकती है।आइये आज इससे बचाव के लिए 5 असरदार घरेलू नुस्खे जानते हैं।

m

हल्दी 
हल्दी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-सेप्टिक गुण होते हैं, जो नाभि के आसपास होने वाली खुजली से राहत दिलाने में मददगार हैं।यह नाभि में यीस्ट संक्रमण को भी ठीक कर सकता है, जो इस समस्या के शुरुआती लक्षणों में से एक है।लाभ के लिए हल्दी पाउडर और पानी का पेस्ट बना लें। इसके बाद इस पेस्ट को नाभि के अंदर और उसके आसपास अच्छे से लगाएं।

m

नारियल का तेल 
नारियल का तेल मॉइस्चराइजिंग गुणों से भरपूर होता है, जो खुजली वाली त्वचा को शांत करता है।इस तेल को नाभि पर लगाने से पोषण मिलेगा, साथ ही खुजली पैदा करने वाले विषाक्त पदार्थों से भी आपकी नाभि साफ रहेगी।लाभ के लिए नारियल तेल की कुछ बूंदें लें और इससे अपनी नाभि पर एक मिनट तक मालिश करें।बेहतर परिणामों के लिए आप इस उपाय को रोजाना कई बार दोहरा सकते हैं।

m

एलोवेरा
एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो खुजली से राहत दिलाने में मददगार हैं।लाभ के लिए अपनी नाभि पर ताजा एलोवेरा जेल लगाकर इसे 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें ताकि यह प्राकृतिक रूप से सूख जाए। बाद में आप इसे पानी से धो सकते हैं। बेहतर परिणाम के लिए ऐसा रोजाना 2 बार जरूर करें।

m

नीम 
नीम मजबूत एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है, जो नाभि में खुजली से राहत दिलाने में मददगार हैं। अगर लगातार खुजली के कारण आपको जलन या घाव जैसा महसूस होता है तो इस समस्या को भी नीम की पत्तियां ठीक कर सकती हैं। लाभ के लिए कुछ नीम की पत्तियों को पीसकर उसमें पानी मिलाकर पेस्ट बना लें। इसके बाद इसे प्रभावित जगह पर लगाएं और 20 मिनट बाद धो लें।

n

टी ट्री ऑयल 
टी ट्री ऑयल में भी एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। ये सभी गुण नाभि में होने वाली खुजली से राहत दिलाने में मदद करते हैं।लाभ के लिए टी ट्री ऑयल की 2 से 3 बूंदें लें, फिर इसे एक चम्मच नारियल के तेल के साथ मिला लें। इसके बाद इस मिश्रण को प्रभावित जगह पर लगाएं। इसे लगाने के बाद करीब 15 से 20 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें और फिर इसे पोंछ लें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story