मॉनसून में सेहत और स्किन के लिए रामबाण है नीम की पत्तियां, जानिए इसके फायदे

,

नीम का स्वाद खाने में भले कड़वा होता है, लेकिन ये हमारे लिए किसी कामबाण से कम नहीं है। प्रकृति का दिया ऐसा उपहार है जिसकी पत्तियां, बीज, छाल, लकड़ी आदि हर चीज में औषधीय गुण छिपे होते हैं। नीम मॉनसून के महीने में स्किन और सेहत दोनों के लिए बेहतरीन औषधि का काम करती है। ये आपको मॉनसून में होने वाली तमाम समस्याओं से बचा सकती है। जानिए इसके फायदे....

नीम की दातून ओरल हेल्थ के लिए काफी अच्छी मानी जाती है। वहीं ​इसकी पत्तियां स्किन से जुड़ी तमाम परेशानियों को दूर करने में सक्षम होती हैं। कई तरह के आयुर्वेदिक स्किन प्रोडक्ट्स में नीम का इस्तेमाल किया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों से भरपूर नीम आपके लिए कई तरह से लाभकारी है। 

स्किन के लिए नीम के फायदे

मॉनसून के महीने में खुजली, दाने, रैशेज, एक्ने की समस्या होना आम बात है. इन परेशानियों से आपको नीम की पत्तियां काफी हद तक राहत दिला सकती हैं. इसके लिए आपको 12 से 15 पत्तियां एक लीटर पानी में आधे घंटे तक उबालना हैं। इस पानी को सामान्य पानी में मिलाकर उससे नहाएं. ऐसे में ये मेडिकेटेड वॉटर आपकी स्किन से जुड़े सभी तरह के इन्फेक्शन को दूर कर सकता है। आप इस पानी से सिर को भी धो सकते हैं। इससे आपके सिर की स्किन पर होने वाले इंफेक्शन भी दूर होंगे। अगर आप नीम की पत्तियों को उबालने के बाद पानी को ठंडा करके कॉटन की मदद से रात में सोते समय स्किन पर लगाएंगे, तो ये आपकी स्किन पर कसाव लाने का काम करता है और झुर्रियों से बचाता है।

,

सेहत के लिए नीम के फायदे

डायबिटीज के लिए

नीम में फ्लेवोनॉइड्स और टारपेनॉइड्स जैसे तत्व होते हैं, जो ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करते हैं। इसके अलावा नीम में रक्तशोधक गुण होते हैं. इनकी पत्तियों का नियमित रूप से सेवन करने से खून साफ होता है और कील, मुंहासों आदि तामम समस्याओं से बचाव होता है।

पेट की समस्याओं का अंत

नीम में एंटीफंगल गुण होते हैं, जो शरीर में होने वाले किसी भी तरह सके इंफेक्शन से बचाते हैं. नियमित रूप से नीम की पत्तियों का सेवन करने से पेट में कीड़े होने की समस्या नहीं होती। एसिडिटी की समस्या और भूख न लगने जैसी समस्या को भी नीम की पत्तियां दूर कर सकती है। इसके सेवन से पाचन तंत्र दुरुस्त होता है।

.

फोड़े फुंसी की समस्या

शरीर पर किसी स्थान पर फोड़े फुंसी की समस्या हो जाए तो नीम की पत्तियों का सेवन करने के साथ, इसकी छाल को घिसकर उस स्थान पर लगाएं। काफी आराम मिलेगा।

बुखार में लाभकारी

नीम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं। नीम शरीर में पित्त को कंट्रोल करती है। ऐसे में ये सीजनल बुखार, वायरल आदि समस्याओं को दूर करने में मददगार मानी जाती है। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन में भी नीम की पत्तियों को बहुत लाभकारी माना जाता है।

रेस्पिरेटरी प्रॉब्लम में असरकारी

एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीमाइक्रोबियल गुणों के कारण नीम खांसी और फेफड़ों से जुड़ी अन्य रेस्पिरेटरी प्रॉब्लम्स में भी असरकारी मानी जाती है। ये शरीर से गर्मी के असर को दूर करके शीतलता प्रदान करती है।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story