दिन में कितनी बार और किस टाइम लगानी चाहिए सनस्क्रीन, जान लें ये जरूरी बातें

m

गर्मी में स्किन का डार्क पड़ना कॉमन है क्योंकि यूवीए और यूवीबी रेव्स इसका बड़ा कारण है। ज्यादा देर धूप में रहने की वजह से काली पड़ी स्किन फिर से नॉर्मल नहीं हो पाती है। कुछ लोगों को धूप ही नहीं गर्मी के कारण भी टैनिंग या सनर्बन हो जाता है।  दरअसल, यूवीए किरणें जब स्किन की फाइनल लेयर में पहुंचती हैं तो इस कारण मेलेनिन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है। स्किन के टोन या कलर के पीछे मेलेनिन का रोल अहम है। अगर ये ज्यादा बनने लगे तो स्किन डार्क पड़ने लगती है।  कहा जाता है कि यूवीबी किरणों से सनबर्न होता है पर जिनकी स्किन पहले से डार्क हो उन्हें ये प्रभावित नहीं करता है। स्किन को डार्क होने से बचाने का बेस्ट तरीका सनस्क्रीन है। बीते सालों में भारत में इसका चलन काफी बढ़ा है। महिलाएं ही नहीं पुरुष भी हर मौसम में स्किन को यूवी किरणों से बचाने के लिए सनस्क्रीन अप्लाई करते हैं। वैसे सनस्क्रीन को लेकर अभी भी लोगों को कम जानकारी है। अधिकतर ये तक नहीं जानते हैं कि हमें दिनभर में इसे कितनी बार स्किन पर अप्लाई करना चाहिए या इसे लगाने का सही समय क्या है। आइये जानते हैं -

m
दिन में कितनी बार लगाएं सनस्क्रीन?
गर्मियों के दौरान हमें हर 2 से 3 घंटे बाद सनस्क्रीन को स्किन पर अप्लाई करना चाहिए। रिपोर्ट्स के मुताबिक बाहर निकलने पर 10 मिनट बाद स्किन बर्न होने लगती है। 30 एसपीएफ वाली सनस्क्रीन 5 घंटे तक स्किन को यूवी किरणों से बचाती है। इसका गणित बताता है कि 10 से 30 को गुणा करें तो 300 मिनट यानी 5 घंटे। इसलिए हमें दिन भर में कम से कम 3 बार तो सनस्क्रीन लगानी चाहिए। 

m

कब लगानी चाहिए सनस्क्रीन?
सनस्क्रीन को अप्लाई करने का सही टाइम भी पता होना चाहिए। अगर आप गर्मी में बाहर निकलने वाले हैं तो आधे घंटे पहले इसे फेस, हाथ और पैरों पर लगाएं क्योंकि ऐसा करने से ये ठीक से एब्जॉर्ब हो पाती है और स्किन को प्रोटेक्ट कर पाती है। घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं तो भी सनस्क्रीन को लगाना न भूलें। नहाने के बाद और शाम के समय फेस धोकर और रात में सोने से पहले इसे अप्लाई करना न भूलें। 

m

कौन सी सनस्क्रीन है बेस्ट
सनस्क्रीन को एसपीएफ का ध्यान रखकर खरीदना चाहिए। 20 से 70 एसपीएफ की सनस्क्रीन का मिलना कॉमन है। इसके अलावा ये जेल, स्प्रे, क्रीन, बटर, स्टिक और ऑयल फॉर्मेट में मिलती है। इसलिए इसे चुनते समय अपने स्किन टाइप का ख्याल जरूर रखें।  उस प्रोडक्ट का यूज करें जिसमें आप कम्फर्टेबल महसूस करें। एक्सपर्ट की सलाह लें और इसका पैच टेस्ट करना न भूलें। ड्राई स्किन वालों के लिए क्रीमी और ऑयली स्किन वालों के लिए जेल बेस्ड सनस्क्रीन बेस्ट रहती है। 

m
वाटर रेसिस्टेंट सनस्क्रीन
सूखी गर्मी के बाद सड़ी गर्मी भी पड़ती है जिसमें ह्यूमिडिटी ज्यादा परेशान करती है। चिपचिपा होने के चलते लोग सनस्क्रीन को नजरअंदाज करते हैं। आपको इस मौसम में भी सनस्क्रीन का रूटीन फॉलो करना चाहिए। ऐसे में वाटर रेसिस्टेंट सनस्क्रीन को चुनना बेस्ट साबित हो सकता है। 

 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story