अमेरिकी सांसदों ने बिना टैक्स वृद्धि के नए बुनियादी ढांचे का प्लान तैयार किया

International
वाशिंगटन। अमेरिकी सांसदों का एक समूह राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन के साथ जुड़ने के लिए बिना किसी टैक्स वृद्धि के एक नए बुनियादी ढांचे का प्रस्ताव तैयार कर रहा है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बुधवार को ब्लूमबर्ग न्यूज की रिपोर्ट के हवाले से बताया कि सीनेटरों के इस समूह में कम से कम पांच डेमोक्रेट और कुछ अधिक रिपब्लिकन शामिल हैं। उन्होंने बुनियादी ढांचे से संबंधित परियोजनाओं पर खर्च के लिए कॉपोर्रेट या व्यक्तिगत आयकर वृद्धि का उपयोग करने के खिलाफ प्रस्ताव तैयार करने का फैसला किया है।

प्रस्ताव को तैयार करने में अग्रणी भूमिका निभाने वाले यूटा के रिपब्लिकन सीनेटर मिट रोमनी ने रिपोर्ट में कहा, कोई कर वृद्धि नहीं हुई है। यह हमारे लिए एक लाल रेखा जैसा है।

रोमनी ने उल्लेख किया कि यह निर्धारित करने की कुंजी ये है कि क्या ये समूह इस सप्ताह बिडेन प्रशासन को एक प्रस्ताव पेश कर सकता है? हमारे प्रस्ताव के लिए अन्य रिपब्लिकन सीनेटरों से पर्याप्त समर्थन है या नहीं।

यह कदम बाइडेन द्वारा मंगलवार को सीनेट रिपब्लिकन के एक समूह के साथ सीनेटर शेली मूर कैपिटो के नेतृत्व में बुनियादी ढांचे की वार्ता समाप्त होने के बाद आया है।

रिपब्लिकन वेस्ट वर्जीनिया के सीनेटर कैपिटो ने एक बयान में कहा, हमारी बातचीत में हमने जो प्रगति की है, उसके बावजूद, राष्ट्रपति ने उन प्रस्तावों के साथ जवाब देना जारी रखा, जिनमें कई व्यावहारिक विकल्पों के बजाय उनके वेतन के रूप में कर वृद्धि शामिल थी, जो व्यक्तियों, परिवारों और छोटे व्यवसायों के लिए हानिकारक नहीं होते।

बाइडेन ने मूल रूप से अपनी 2.3 ट्रिलियन डॉलर की बुनियादी ढांचा योजना के भुगतान में मदद के लिए कॉपोर्रेट आयकर की दर को 21 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत करने का प्रस्ताव दिया था, जिसका रिपब्लिकन और व्यापारिक समुदाय ने विरोध किया था।

व्हाइट हाउस ने बाद में कुल मूल्य टैग को घटाकर 1.7 ट्रिलियन डॉलर कर दिया, जबकि सीनेट रिपब्लिकन ने 928 बिलियन डॉलर के काउंटर-ऑफर की पेशकश की।

कई रिपब्लिकन ने जोर देकर कहा है कि वे बुनियादी ढांचे की योजना के भुगतान के लिए टैक्स बढ़ाने के पक्ष में मतदान नहीं करेंगे।

अमेरिकी व्यवसायों और नियोक्ताओं का प्रतिनिधित्व करने वाले दो दर्जन से अधिक समूहों ने हाल ही में टैक्स बढ़ाने की बाइडेन की योजना का विरोध करने के लिए एक गठबंधन बनाया है। उनका तर्क है कि इस तरह के उपाय कोविड -19 महामारी के मद्देनजर अर्थव्यवस्था को बाधित करेंगे।

--आईएएनएस

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक  करें।

Share this story