सौ में से एक को ही पाकिस्तान में कोविड वैक्सीन उपलब्ध : डेटा

सौ में से एक को ही पाकिस्तान में कोविड वैक्सीन उपलब्ध : डेटा

द न्यूज ने बताया, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में डेटा प्रोजेक्ट में दुनिया द्वारा सरकारी स्रोतों से डेटा संकलित किया जाता है। टीका लगाया हुआ व्यक्ति किसी ऐसे व्यक्ति को संदर्भित करता है, जिसे किसी टीके की कम से कम एक खुराक मिली हो और पूरी तरह से टीका लगाए गए व्यक्ति को वैक्सीन की सभी आवश्यक खुराकें मिली हो।

28 अप्रैल को प्रति सौ लोगों पर खुराक का आंकड़ा सेशेल्स 127 खुराक के साथ शीर्ष पर है, इजराइल को 116 के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि यूएई 107 खुराक प्रति सौ व्यक्तियों के साथ तीसरे स्थान पर है। क्षेत्रीय देशों में मालदीव ने प्रति सौ लोगों पर 73 खुराक दी है, चीन 17, भारत 11, नेपाल 7.2, बांग्लादेश 5.2, श्रीलंका 4.2, ईरान 1.1, पाकिस्तान को एक और अफगानिस्तान में 0.6 खुराक शामिल हैं।

जबकि वैक्सीन की खुराक विश्व स्तर पर अपेक्षाकृत कम रहती है, ज्यादातर देशों ने अपने प्रारंभिक टीकाकरण प्रयासों को प्राथमिकता से समूहों जैसे कि चिकित्सकीय रूप से कमजोर लोगों ध्यान दिया, जिसमें 60, 70 और उनसे ज्यादा उम्र के लोग और डॉक्टरों और नर्सों को दी गई।

अफ्रीका में किसी भी महाद्वीप का सबसे धीमा टीकाकरण दर है, कुछ देशों में अभी तक सामूहिक टीकाकरण अभियान शुरू नहीं हुआ है।

कम अमीर देशों को कोवैक्स नाम की वैक्सीन-शेयरिंग व्यवस्था पर भरोसा है, जिसका उद्देश्य वर्ष के अंत तक 2 अरब खुराक प्रदान करना है।

दुनिया भर में 83 फीसदी वैक्सीन उच्च और मध्यम आय वाले देशों को दी गई है। कम आय वाले देशों में केवल 0.2 प्रतिशत खुराक दी गई है।

वर्तमान में उपयोग किए जाने वाले अधिकांश टीकों में एक मरीज को पूरी तरह से टीका लगाने के लिए दो खुराक की आवश्यकता होती है। फरवरी में खाद्य और औषधि प्रशासन ने अमेरिका में आपातकालीन उपयोग के लिए फार्मास्यूटिकल दिग्गज जॉनसन एंड जॉनसन का एक शॉट दिया जाता है।

--आईएएनएस

एचके/आरजेएस

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिककरें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिककरें।

Share this story