जर्मनी ने लॉन्च किया डिजिटल वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

`
बर्लिन। जर्मनी में कोविड-19 के नए डिजिटल वैक्सीनेशन सटिर्फिकेट कोवपास को आधिकारिक तौर पर लॉन्च कर दिया गया। हालांकि इससे पहले इसे दो हफ्ते तक परीक्षण की प्रक्रियाओं में से होकर गुजरना पड़ा। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पान ने इसकी घोषणा की।

गुरुवार को एक प्रेस ब्रीफिंग में स्पान के दिए बयान के हवाले से सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा, यूरोपीय संघ (ईयू) द्वारा प्रस्तावित एक कार्यक्रम को लागू किया जा रहा है। इस सर्टिफिकेट में कुछ बदलाव किए गए हैं, जिससे अब यूरोप भर में सफर करने के दौरान वैक्सीनेशन, टेस्ट, पहले कोविड हुआ है या नहीं इत्यादि बातों का अब आसानी से पता लगा लिया जाएगा।

उन्होंने आगे कहा, कदम दर कदम टीकाकरण केंद्र, डॉक्टरों की प्रैक्टिस के साथ-साथ फार्मेसियों को अब यूरोपीय इंटरऑपरेबल टीकाकरण प्रमाणपत्र जारी करने में सक्षम होने के लिए सिस्टम से जोड़ा जाएगा।

हालांकि अभी से हर कोई अपने मोबाइल पर अपने वैक्सीनेशन से संबंधित जानकारियों को पंजीकृत नहीं करा सकेगा।

स्पान के मुताबिक, इसका लक्ष्य जून के अंत तक जर्मनी में आने की इच्छा रखने वालों के लिए एक एप्लीकेशन उपलब्ध कराना था।

डिजिटल टीकाकरण प्रमाणपत्र का उपयोग जर्मनी के आधिकारिक कोविड-19 वानिर्ंग ऐप या नए कोवपास ऐप के साथ किया जा सकता है।

स्पान के अनुसार, डिजिटल प्रमाण पत्र के साथ पारंपरिक पीले रंग के कागज की टीकाकरण पुस्तिका भी वैध रहेगी।

उनके मुताबिक, जिन लोगों ने कोरोना के खिलाफ टीका लगवा लिया है, उनके लिए वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जारी करने का काम अगले कुछ दिनों में शुरू हो जाएगा। गर्मी की छुट्टियां शुरू होने से पहले यह डिजिटली वैक्सीनेशन को साबित करने का एक यूरोपीय समाधान है।

--आईएएनएस

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक  करें।

Share this story