Shani Pradosh : साल का पहला प्रदोष व्रत आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व 

DHARM

एकादशी की ही तरह प्रदोष व्रत का बहुत महत्व होता है। प्रदोष का व्रत महादेव को समर्पित होता है। एकादशी की तरह ये व्रत भी महीने में दो बार आता है। इसे हर माह की ​त्रयोदशी तिथि पर रखा जाता है। साल 2022 का पहला प्रदोष व्रत इस बार शनिवार के दिन पड़ रहा है। इसे शनि प्रदोष के नाम से जाना जाता है।  शनि प्रदोष का व्रत हर मनोकामना को पूरा करने वाला है। कहा जाता है कि नि:संतान दंपति अगर शनि प्रदोष का विधिवत व्रत रखें तो उन्हें पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है। यह व्रत व्यक्ति को जीवन में अभीष्ट फल देने वाला माना जाता है। आइए जानते है शनि प्रदोष व्रत की पूजा विधि शुभ मुहूर्त और महत्व।

DHARM

पूजा का शुभ मुहूर्त
पौष शुक्ल त्रयोदशी शुरू : 14 जनवरी को रात 10:19 बजे पौष शुक्ल त्रयोदशी समाप्‍त : 16 जनवरी सुबह 12:57 बजे पूजा के लिए शुभ समय : शाम 05:46 से रात 08:28 बजे तक

प्रदोष व्रत पूजा विधि
सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर स्वच्छ वस्त्र पहनें और भगवान शिव और उनके परिवार की फोटो के सामने दीप जलाकर व्रत का संकल्प लें. इसके बाद दिन भर व्रत रखें और मन में महादेव का ध्यान करें. शाम को प्रदोष काल के समय पूजा के स्थान को गंगाजल छिड़ककर साफ करें। एक चौकी बिछाएं और इस पर साफ वस्त्र बिछाकर शिव परिवार की तस्वीर रखें. भगवान श‍िव का गंगा जल से अभिषेक करें। उन्हें बेल पत्र, आक के फूल, धतूरा, चंदन, धूप और दीप आदि अर्पित करें।  इसके बाद शिव मंत्रों का जाप करें। शनि प्रदोष व्रत कथा पढ़ें और इसके बाद आरती करें।  भगवान को प्रेमपूर्वक भोग लगाएं और उनसे गलतियों और पूजा में हुई भूलचूक की क्षमा मांगें। इसके बाद शनिदेव के नाम का दीपक जलाकर पीपल के वृक्ष के नीचे रखें। फिर प्रसाद का वितरण करें। 

https://livevns.news/static/c1e/static/themes/11/84451/3269/images/Website-Banner--3-.jpg

शनि प्रदोष व्रत का महत्व
शास्त्रों में प्रदोष के व्रत को श्रेष्ठ व्रतों में से एक माना गया है। ये व्रत महादेव को अत्यंत प्रिय है और हर मनोकामना को पूर्ण करता है। इस व्रत को रखने वाले को लंबी आयु, सौभाग्य, पुत्र रत्न धन, वैभव आदि सब कुछ प्राप्त होता है. शनिवार के प्रदोष व्रत के दिन शनिदेव की भी पूजा करनी चाहिए। इससे शनि संबन्धी कष्ट दूर होते हैं। 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story