वैक्सीनेशन: बिना अपॉइंटमेंट पहुंचे युवाओं को लौटना पड़ रहा है वापस

ds
नई दिल्ली। दिल्ली में सोमवार से 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए मु़फ्त कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरूआत की जा चुकी है। हालांकि फिलहाल दिल्ली में वैक्सीन लगाने के लिए एक सीमित संख्या में ही अपॉइंटमेंट दी जा रही है। 18 से 44 वर्ष के ऐसे सभी व्यक्ति जो बिना अपॉइंटमेंट के वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंच रहे हैं उन्हें खाली हाथ वापस लौटाया जा रहा है।

दिल्ली सरकार के मुताबिक वैक्सीन की कम उपलब्धता को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। दिल्ली के शाहदरा इलाके में रहने वाले 42 वर्षीय उदय शर्मा ने बताया कि उन्होंने वैक्सीन लगाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाया है। लेकिन उन्हें अभी तक वैक्सीन लगाने की डेट और समय आवंटित नहीं किया गया है।

सुभाष पार्क में रहने वाली 44 वर्षीय ललिता ने भी कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया है। ललिता ने बताया कि उन्हें वैक्सीनेशन लगाने का केंद्र तो आवंटित किया गया है, लेकिन इस केंद्र पर किस दिन जाना है वह तारीख अभी तक नहीं दी गई है।

दिल्ली सरकार के मुताबिक उनके पास फिलहाल अभी इतनी वैक्सीन नहीं है कि रजिस्ट्रेशन कराने वाले प्रत्येक व्यक्ति को अपॉइंटमेंट दिया जा सके। वैक्सीन मिलने पर रजिस्ट्रेशन करवाने वाले इन व्यक्तियों को अपॉइंटमेंट जारी किया जाएगा।

दिल्ली सरकार ने अभी 76 विद्यालयों में 301 टीकाकरण केंद्र की शुरूआत की है। प्रत्येक केंद्रों में केवल 250 लोगों को टीकाकरण के लिए अपॉइंटमेंट दिया है। खास बात यह है कि इसका टर्नआउट 100 फीसदी है। इन सभी टीकाकरण केंद्रों पर 18 से 45 वर्ष के लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के पास वैक्सीन की 4.5 लाख डोज हैं। वैक्सीन की आपूर्ति के बढ़ने के साथ ही केंद्रों की संख्या बढ़ाकर 3000 तक की जाएगी। दिल्ली सरकार लगातार वैक्सीन उपलब्ध करवाने वाली कंपनियों के संपर्क में है ताकि बड़ी मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध हो और दिल्ली के सभी नागरिकों को वैक्सीन लगाई जा सके। क्योंकि वैक्सीन कोरोना से लड़ने में हमारी मदद करेगा।

दिल्ली सरकार के मुताबिक प्रत्येक केंद्र पर वैक्सीनेशन के लिए तीन साइट बनाई गई हैं। दिल्ली के सभी 272 वार्ड में ऐसे वैक्सीनेशन सेंटर खोलेंगे, जहां 18 साल से ऊपर के उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन पूरा किया जा सके और लोगों को कोरोना से बचाया जा सके।

--आईएएनएस

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Share this story