कनाडा ने गुणवत्ता के मुद्दे पर जम्मू और कश्मीर कोविड वैक्स की पहली खेप को रोका

कनाडा ने गुणवत्ता के मुद्दे पर जम्मू और कश्मीर कोविड वैक्स की पहली खेप को रोका
टोरंटो। स्वास्थ्य कनाडा 300,000 जॉनसन एंड जॉनसन ने कोविड-19 की पहली खेप यह जानने के बाद रोक दी है कि वैक्सीन का एक हिस्सा उसी अमेरिकी संयंत्र में बनाया गया था जहां लाखों खुराक खराब हो गई थीं।

ग्लोबलन्यूज डॉट सीए की रिपोर्ट के मुताबिक कैंडियन सरकारी एजेंसी ने पाया कि अंतिम जे एंड जे वैक्सीन बनने के लिए ड्रग पदार्थ की आवश्यकता थी, जो कि बाल्टीमोर, मेरीलैंड में एमर्जेंट बायोसोल्यूशन प्लांट में बनाया गया था।

एजेंसी ने एक बयान में कहा, दवा पदार्थ एक सक्रिय घटक है जो अंतिम उत्पाद (यानी, वैक्सीन) बनने से पहले आगे की प्रक्रिया से गुजरता है। अंतिम जैन्सेन टीके का निर्माण अमेरिका में किया गया था।

संयंत्र कई उल्लंघनों के लिए समाचार में रहा है, जिसमें सफाई और स्टरलाईसेशन के साथ-साथ क्रॉस-कंटामिनेशन की संभावना भी शामिल है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने तब तक और अधिक जम्मू-कश्मीर के टीके बनाने का आदेश दिया है, जब तक कि यह उल्लंघन और विनिर्माण की खामियों को दूर नहीं कर देता है, जिसके परिणामस्वरूप 15 मिलियन डोज खराब हो गए हैं।

स्वास्थ्य कनाडा ने कहा कि यह वैक्सीन का आकलन करने के लिए जानसेन और एफडीए के साथ काम कर रहा था और उन्हें केवल एक बार जारी किया जाएगा जब उन्हें सुरक्षित समझा जाएगा।

रिपोर्ट के मुताबिक, एजेंसी ने यह भी विश्वास बनाए रखा कि मार्च के आखिर में 1.5 मिलियन एस्ट्राजेनेका के टीके भी उस संयंत्र से कनाडा को दिए गए थे जो अभी भी सुरक्षित हैं और गुणवत्ता विनिदेशरें को पूरा करते हैं।

हमारा बयान जारी करने के बाद से (एस्ट्राजेनेका पर), स्वास्थ्य कनाडा ने सीखा है कि इमर्जेंट साइट पर उत्पादित एक मादक पदार्थ का उपयोग 28 अप्रैल को प्राप्त प्रारंभिक जैनसेन के टीके के निर्माण में किया गया था और कनाडा में उपयोग करने का इरादा था।

--आईएएनएस

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिककरें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिककरें।

Share this story