जीत से पहले ही प्रधान प्रत्याशी की मौत, दरवाजे पर आई थी बेटी की बारात 

जीत से पहले ही प्रधान प्रत्याशी की मौत, दरवाजे पर आई थी बेटी की बारात

चंदौली। धानापुर ब्लाक के किशुनपुरा गांव निवासी ग्राम प्रधान प्रत्याशी वीरेंद्र यादव (55) की चुनाव जीतने की घोषणा से चंद मिनट पहले रविवार की शाम मौत हो गई। विडंबना यह कि बेटी की बारात भी दरवाजे पर पहुंच चुकी थी। इसी दौरान प्रधान प्रत्याशी की सांसें थम गई। घटना से चुनाव में जीत व शादी की खुशियां मातम में बदल गईं। ऐसे में सादगीपूर्ण ढंग से किसी तरह शादी की रस्में पूरी करने के बाद बाराती रात में ही लौट गए। 

वीरेंद्र यादव पिछले काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। घर पर ही दवा चल रही थी। पंचायत चुनाव में उन्होंने ग्राम प्रधान पद के लिए नामांकन कर दावेदारी की थी। रविवार को बेटी की शादी थी। शाम के वक्त जैसे ही बेटी की बारात दरवाजे पर पहुंची, उनकी सांसें थम गईं। इससे घर में कोहराम मच गया। उधर घटना के चंद मिनटों बाद ही मतगणना में उनकी जीत भी हुई। दुखद घटनाक्रम की जानकारी होते ही कोहराम मच गया। 

लोग इस क्रूर खेल के लिए नीयति को कोसते रहे। प्रधान प्रत्याशी की मौत से ग्राम पंचायत में दोबारा निर्वाचन ही स्थिति बन गई है। हालांकि इसके लिए परिजनों को लिखित सूचना निर्वाचन दफ्तर को देनी होगी। इसके बाद चुनाव के लिए तिथियों का निर्धारण किया जा सकता है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Share this story